Friday, July 12, 2024
HomeBiharबिहार में तेज हुई अहीर रेजिमेंट की मांग

बिहार में तेज हुई अहीर रेजिमेंट की मांग

भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट बनाने को लेकर बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले “#अहीर_रेजिमेंट_हक़_है_हमारा” जोर पकड़ने लगी हैं, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के पौत्र, आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की पुत्री, फ़िल्म अभिनेता राजपाल यादव से लेकर पूर्व सांसद अक्षय प्रताप सिंह की पत्नी राज लक्ष्मीं तक के द्वारा अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर समर्थन में आवाज को बुलंद करते हुए ट्वीट किए,

सोशल मीडिया पर #अहीर_रेजिमेंट_हक_हैं_हमारा का नारा ट्रेंड हो गया, अगर आप भी इसके समर्थन में है तो ट्विटर के माध्यम से ट्वीट करें  #अहीर_रेजिमेंट_हक_हैं_हमारा

बता दें कि लालू प्रसाद यादव की बेटी व राज लक्ष्मी जो कि सपा के पूर्व सांसद अक्षय कुमार की पत्नी है, ने ट्वीट कर लिखा –

“अहीर रेजिमेंट बात जातिवाद नहीं हैं, क्योकि इसके अलावा भी कई जातीय रेजिमेंट है तो फिर अहीर रेजिमेंट जातिवाद कैसे? सरकार को चाहिए कि अहीर रेजिमेंट देवे नही तो जितनी भी जातीय रेजिमेंट है उनको भंग करें #अहीर_रेजिमेंट_हक_हैं_हमारा”

Ahir regiment 1
Source : twitter

फ़िल्म अभिनेता राजपाल यादव अहीर रेजिमेंट को लेकर वीडियो शेयर किए है जो काफी शेयर किया जा रहा हैं, वीडियो में वे कह रहे है “114 लोगो ने देश के लिए दुश्मनों से लोहा लेते हुए अपनी जान गवाई,

उनके सम्मान के लिए #अहीर_रेजिमेंट बनाया जाना चाहिए अगर अहीर रेजिमेंट में प्रॉब्लम है तो जितने भी जातीय रेजिमेंट है उनको खत्म करो और सिर्फ भारतीय सेना, नौसेना  सिर्फ भारतीय वायुसेना ही रहने दिया जाए।

दरअसल इस रेजिमेंट की मांग काफी समय से किया जा रहा हैं, 2016 अक्टूबर में गुरुग्राम के गांव “खेड़की डौला गांव” में यादव जाती के सैंकड़ों लोगो ने भूख हड़ताल किया था, मध्यप्रदेश के बीजेपी सांसद लक्ष्मीनारायण यादव के आश्वासन पर लोगो ने भूखहड़ताल को खत्म किया था,

बीजेपी सांसद ने आश्वासन दिया था कि उनकी बातों को सरकार तक पहुंचाएंगे।, बता दे कि 2019 के लोकसभा चुनाव में अखिलेश यादव ने अपनी घोषणापत्र में अहीर रेजिमेंट को बनाने की बात कही थी।

पंचायत में अभीतक नही हुआ हैं, साबुन व मास्क का वितरण? तो यहां करे शिकायत, तुरंत होगी करवाई

अहीर रेजिमेंट की मांग क्यों हो रही 

बता दें कि 1962 के युद्ध मे 114 वीर जवान शहीद हुए थे जिनमें 112 जवान यादव थे, हमारे वीर जवानों ने चीन के सैंकड़ो सैनिक को मौत का घाट उतार दिए थे, इसीलिए यादव समाज द्वारा उनके सम्मान में अहीर रेजिमेंट बनाये जानी की मांग किया जाता रहा हैं।

भारतीय सेना में 23 रेजिमेंट :

1857 के क्रांति के बाद सेना में जातिवार रेजिमेंट का गठन हुआ था, सेना में रेजिमेंट की बात किया जाए तो इस समय भारतीय सेना में 23 रेजिमेंट है जिनमे कुछ जाती व इलाको के नाम पर है। इनमे राजपूत रेजिमेंट, बिहार रेजिमेंट, जाट रेजिमेंट, सिख रेजिमेंट, पंजाब रेजिमेंट, गोरखा रेजिमेंट, असम रेजिमेंट व डोगरा रेजिमेंट शामिल है,

अब केवल 10 मिनट में बनेगा आपका पैन कार्ड(PAN CARD), कैसे करें Apply?

बता दें कि आजादी के बाद सरकार द्वारा जाती आधारित रेजिमेंट का गठन नही करने का फैसला किया गया था, इस नीति में 1947 के बाद से अभीतक कोई भी बदलाव नही हुआ हैं।

नियर न्यूज अब टेलीग्राम और फेसबुक पर भी उपलब्ध हैं, इसी तरह की जरूरी जानकारियों के लिए अभी हमारे साथ जुड़े :

फेसबुक पेज के लिए : यहां क्लिक करें

फेसबुक ग्रुप के लिए : यहां क्लिक करें

संबंधित खबरें

Rahul
Rahulhttps://nearnews.in
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.

Most Popular

- Advertisment -
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
HomeBiharबिहार में तेज हुई अहीर रेजिमेंट की मांग

बिहार में तेज हुई अहीर रेजिमेंट की मांग

भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट बनाने को लेकर बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले “#अहीर_रेजिमेंट_हक़_है_हमारा” जोर पकड़ने लगी हैं, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के पौत्र, आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की पुत्री, फ़िल्म अभिनेता राजपाल यादव से लेकर पूर्व सांसद अक्षय प्रताप सिंह की पत्नी राज लक्ष्मीं तक के द्वारा अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर समर्थन में आवाज को बुलंद करते हुए ट्वीट किए,

सोशल मीडिया पर #अहीर_रेजिमेंट_हक_हैं_हमारा का नारा ट्रेंड हो गया, अगर आप भी इसके समर्थन में है तो ट्विटर के माध्यम से ट्वीट करें  #अहीर_रेजिमेंट_हक_हैं_हमारा

बता दें कि लालू प्रसाद यादव की बेटी व राज लक्ष्मी जो कि सपा के पूर्व सांसद अक्षय कुमार की पत्नी है, ने ट्वीट कर लिखा –

“अहीर रेजिमेंट बात जातिवाद नहीं हैं, क्योकि इसके अलावा भी कई जातीय रेजिमेंट है तो फिर अहीर रेजिमेंट जातिवाद कैसे? सरकार को चाहिए कि अहीर रेजिमेंट देवे नही तो जितनी भी जातीय रेजिमेंट है उनको भंग करें #अहीर_रेजिमेंट_हक_हैं_हमारा”

Ahir regiment 1
Source : twitter

फ़िल्म अभिनेता राजपाल यादव अहीर रेजिमेंट को लेकर वीडियो शेयर किए है जो काफी शेयर किया जा रहा हैं, वीडियो में वे कह रहे है “114 लोगो ने देश के लिए दुश्मनों से लोहा लेते हुए अपनी जान गवाई,

उनके सम्मान के लिए #अहीर_रेजिमेंट बनाया जाना चाहिए अगर अहीर रेजिमेंट में प्रॉब्लम है तो जितने भी जातीय रेजिमेंट है उनको खत्म करो और सिर्फ भारतीय सेना, नौसेना  सिर्फ भारतीय वायुसेना ही रहने दिया जाए।

दरअसल इस रेजिमेंट की मांग काफी समय से किया जा रहा हैं, 2016 अक्टूबर में गुरुग्राम के गांव “खेड़की डौला गांव” में यादव जाती के सैंकड़ों लोगो ने भूख हड़ताल किया था, मध्यप्रदेश के बीजेपी सांसद लक्ष्मीनारायण यादव के आश्वासन पर लोगो ने भूखहड़ताल को खत्म किया था,

बीजेपी सांसद ने आश्वासन दिया था कि उनकी बातों को सरकार तक पहुंचाएंगे।, बता दे कि 2019 के लोकसभा चुनाव में अखिलेश यादव ने अपनी घोषणापत्र में अहीर रेजिमेंट को बनाने की बात कही थी।

पंचायत में अभीतक नही हुआ हैं, साबुन व मास्क का वितरण? तो यहां करे शिकायत, तुरंत होगी करवाई

अहीर रेजिमेंट की मांग क्यों हो रही 

बता दें कि 1962 के युद्ध मे 114 वीर जवान शहीद हुए थे जिनमें 112 जवान यादव थे, हमारे वीर जवानों ने चीन के सैंकड़ो सैनिक को मौत का घाट उतार दिए थे, इसीलिए यादव समाज द्वारा उनके सम्मान में अहीर रेजिमेंट बनाये जानी की मांग किया जाता रहा हैं।

भारतीय सेना में 23 रेजिमेंट :

1857 के क्रांति के बाद सेना में जातिवार रेजिमेंट का गठन हुआ था, सेना में रेजिमेंट की बात किया जाए तो इस समय भारतीय सेना में 23 रेजिमेंट है जिनमे कुछ जाती व इलाको के नाम पर है। इनमे राजपूत रेजिमेंट, बिहार रेजिमेंट, जाट रेजिमेंट, सिख रेजिमेंट, पंजाब रेजिमेंट, गोरखा रेजिमेंट, असम रेजिमेंट व डोगरा रेजिमेंट शामिल है,

अब केवल 10 मिनट में बनेगा आपका पैन कार्ड(PAN CARD), कैसे करें Apply?

बता दें कि आजादी के बाद सरकार द्वारा जाती आधारित रेजिमेंट का गठन नही करने का फैसला किया गया था, इस नीति में 1947 के बाद से अभीतक कोई भी बदलाव नही हुआ हैं।

नियर न्यूज अब टेलीग्राम और फेसबुक पर भी उपलब्ध हैं, इसी तरह की जरूरी जानकारियों के लिए अभी हमारे साथ जुड़े :

फेसबुक पेज के लिए : यहां क्लिक करें

फेसबुक ग्रुप के लिए : यहां क्लिक करें

RELATED ARTICLES
Rahul
Rahulhttps://nearnews.in
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.
Html code here! Replace this with any non empty raw html code and that's it.

Most Popular

- Advertisment -