मंगलवार, जून 18, 2024
होमBiharकोचिंग और हॉस्टल को लेकर बड़ा फैसला, सरकार ने...

कोचिंग और हॉस्टल को लेकर बड़ा फैसला, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

PATNA : वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर बिहार में लॉकडाउन के समय से ही स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर एवं हॉस्टल को बंद रखा गया हैं.

- Advertisement -

केंद्र सरकार के दिशा निर्देश के बाद शिक्षा विभाग के तरफ से स्कूल, कोचिंग सेंटर और हॉस्टल को लेकर बड़ा फैसला लिए गए हैं. बिहार शिक्षा विभाग के तरफ से 28 सितंबर से स्कूल को खोलने का बड़ा एलान किये गए हैं. क्लास 9th से 12th के क्लासों को खोलने का निर्णय लिए गए हैं.

बिहार सरकार के तरफ से जारी आदेश के अनुसार पेरेंट्स की सहमति से बच्चे स्कूलों में टीचर से सलाह लेने जा सकते है. बिहार सरकार के तरफ से मिली जानकारी के अनुसार एक बच्चा सप्ताह में सिर्फ दो ही दिन स्कूलों में जा सकता हैं.

वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया हैं कि कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्र केंद्र सरकार के तरफ से जारी एसओपी के निर्देशों का पालन करते हुए स्कूल जाने की अनुमति रहेगी.

स्कूलों के अलावें कोचिंग सेंटर और Hostel को लेकर भी बड़ा निर्णय लिए गए है. सरकार के तरफ से जारी नई गाइडलाइन के अनुसार हॉस्टल और कोचिंग संस्थान को अगले आदेश तक बंद रखने का फैसला लिया गया हैं.

स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन और शिक्षकों की प्राथमिकताओं को देखते हुए बच्चों के लिए ऑनलाइन लर्निंग की ही व्यवस्था पहले की तरह जारी रहेगी.

बता दें कि इस आदेश के अनुसार क्लास 9th से ऊपर के क्लासों को खोले जाने का एलान किये गए हैं. सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार पेरेंट्स की सहमति के बाद बच्चे अपनें-अपने स्कूलों में टीचर से सलाह लेने जा सकते हैं.

सरकार की ओर से स्टूडेंट्स और स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन के लिए विस्तृत दिशा निर्देश जल्द ही जारी किया जाएगा.

इससे पहले केंद्र सरकार के तरफ से जारी Unlock-4 के गाइडलाइन में भी क्लास 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को 21 September से स्कूलों में जाने की अनुमति दी गई थी. पेरेंट्स से परमिशन मिलने के बाद ही बच्चों को स्कूल भेजने की बात कही गई हैं.

छात्रों के लिए गाइडलाइन

  • स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखेंगे
  • अपने कॉपी, पेन, किताबें, पेंसिल आदि किसी से साझा नहीं करेंगे
  • प्रैक्टिकल क्लास अभी नहीं होंगी
  • स्कूलों में इधर-उधर नहीं घूमेंगे
  • स्कूल परिसर में मास्क लगाकर रहेंगे
  • सेनेटाइजर को साथ में रखेंगे

इन लोगों को प्रवेश नहीं मिलेगा

  • बुर्जुग स्टाफ या बुर्जुग शिक्षक को नहीं बुलाया जायेगा.
  • क्वारंटाइन जोन इलाके के छात्रों और शिक्षक नहीं आवेंगे स्कूल
  • जिन छात्रों को सर्दी जुकाम होगी उन्हें स्कूल आने की मंजूरी नहीं
  • एलर्जी के लक्ष्ण से संबंधित शिक्षक स्कूल नहीं आवेंगे
  • जिन शिक्षकों या छात्रों के परिवार अथवा आसपरोड़ में किन्ही को भी कोरोना हुआ हो तो वैसे छात्र नहीं आवेंगे स्कूल

स्कूलों में ये है तैयारी

  • स्कूल परिसरों को कई बार सेनेटाइज किया जाना हैं.
  • स्कूल में प्रवेश के प्रत्येक गेटों को खोला जाएगा.
  • छह फीट की दूरी पर क्लास के अंदर बेंच लगाया जाएगा.
  • एक समय में एक सेक्शन के दस बच्चे को ही बुलाया जायेगा.
  • पांच से छह बच्चे ही एक क्लास में बैठेंगे.
  • मास्क देकर ही मास्क लगा कर नहीं आने वाले छात्रों को स्कूलों में प्रवेश दिया जाएगा.
  • शरीर मे आक्सीजन की लेवल जांचने के लिए आक्सीमीटर रहेगा.

आक्सीमीटर खरीदना चाहते हैं तो : Click Here

NewsDeatilsde6f1fd2001d4f71828009da0ae920c01600786387625
NewsDeatilsbe7a0581708e4d8b8339ebb5247d00201600786393962

संबंधित खबरें

Rahul
Rahulhttps://nearnews.in
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.

Most Popular

- Advertisment -
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
होमBiharकोचिंग और हॉस्टल को लेकर बड़ा फैसला, सरकार ने जारी की नई...

कोचिंग और हॉस्टल को लेकर बड़ा फैसला, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

PATNA : वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर बिहार में लॉकडाउन के समय से ही स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर एवं हॉस्टल को बंद रखा गया हैं.

केंद्र सरकार के दिशा निर्देश के बाद शिक्षा विभाग के तरफ से स्कूल, कोचिंग सेंटर और हॉस्टल को लेकर बड़ा फैसला लिए गए हैं. बिहार शिक्षा विभाग के तरफ से 28 सितंबर से स्कूल को खोलने का बड़ा एलान किये गए हैं. क्लास 9th से 12th के क्लासों को खोलने का निर्णय लिए गए हैं.

बिहार सरकार के तरफ से जारी आदेश के अनुसार पेरेंट्स की सहमति से बच्चे स्कूलों में टीचर से सलाह लेने जा सकते है. बिहार सरकार के तरफ से मिली जानकारी के अनुसार एक बच्चा सप्ताह में सिर्फ दो ही दिन स्कूलों में जा सकता हैं.

वैश्विक महामारी कोरोना को देखते हुए सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया हैं कि कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्र केंद्र सरकार के तरफ से जारी एसओपी के निर्देशों का पालन करते हुए स्कूल जाने की अनुमति रहेगी.

स्कूलों के अलावें कोचिंग सेंटर और Hostel को लेकर भी बड़ा निर्णय लिए गए है. सरकार के तरफ से जारी नई गाइडलाइन के अनुसार हॉस्टल और कोचिंग संस्थान को अगले आदेश तक बंद रखने का फैसला लिया गया हैं.

स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन और शिक्षकों की प्राथमिकताओं को देखते हुए बच्चों के लिए ऑनलाइन लर्निंग की ही व्यवस्था पहले की तरह जारी रहेगी.

बता दें कि इस आदेश के अनुसार क्लास 9th से ऊपर के क्लासों को खोले जाने का एलान किये गए हैं. सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार पेरेंट्स की सहमति के बाद बच्चे अपनें-अपने स्कूलों में टीचर से सलाह लेने जा सकते हैं.

सरकार की ओर से स्टूडेंट्स और स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन के लिए विस्तृत दिशा निर्देश जल्द ही जारी किया जाएगा.

इससे पहले केंद्र सरकार के तरफ से जारी Unlock-4 के गाइडलाइन में भी क्लास 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को 21 September से स्कूलों में जाने की अनुमति दी गई थी. पेरेंट्स से परमिशन मिलने के बाद ही बच्चों को स्कूल भेजने की बात कही गई हैं.

छात्रों के लिए गाइडलाइन

  • स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखेंगे
  • अपने कॉपी, पेन, किताबें, पेंसिल आदि किसी से साझा नहीं करेंगे
  • प्रैक्टिकल क्लास अभी नहीं होंगी
  • स्कूलों में इधर-उधर नहीं घूमेंगे
  • स्कूल परिसर में मास्क लगाकर रहेंगे
  • सेनेटाइजर को साथ में रखेंगे

इन लोगों को प्रवेश नहीं मिलेगा

  • बुर्जुग स्टाफ या बुर्जुग शिक्षक को नहीं बुलाया जायेगा.
  • क्वारंटाइन जोन इलाके के छात्रों और शिक्षक नहीं आवेंगे स्कूल
  • जिन छात्रों को सर्दी जुकाम होगी उन्हें स्कूल आने की मंजूरी नहीं
  • एलर्जी के लक्ष्ण से संबंधित शिक्षक स्कूल नहीं आवेंगे
  • जिन शिक्षकों या छात्रों के परिवार अथवा आसपरोड़ में किन्ही को भी कोरोना हुआ हो तो वैसे छात्र नहीं आवेंगे स्कूल

स्कूलों में ये है तैयारी

  • स्कूल परिसरों को कई बार सेनेटाइज किया जाना हैं.
  • स्कूल में प्रवेश के प्रत्येक गेटों को खोला जाएगा.
  • छह फीट की दूरी पर क्लास के अंदर बेंच लगाया जाएगा.
  • एक समय में एक सेक्शन के दस बच्चे को ही बुलाया जायेगा.
  • पांच से छह बच्चे ही एक क्लास में बैठेंगे.
  • मास्क देकर ही मास्क लगा कर नहीं आने वाले छात्रों को स्कूलों में प्रवेश दिया जाएगा.
  • शरीर मे आक्सीजन की लेवल जांचने के लिए आक्सीमीटर रहेगा.

आक्सीमीटर खरीदना चाहते हैं तो : Click Here

NewsDeatilsde6f1fd2001d4f71828009da0ae920c01600786387625
NewsDeatilsbe7a0581708e4d8b8339ebb5247d00201600786393962

RELATED ARTICLES
Rahul
Rahulhttps://nearnews.in
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.
Html code here! Replace this with any non empty raw html code and that's it.

Most Popular

- Advertisment -