बुधवार, जून 19, 2024
होमTechnologyTruecaller लाया जबरदस्त फीचर ! फर्जी कॉल से मिलेगा...

Truecaller लाया जबरदस्त फीचर ! फर्जी कॉल से मिलेगा छुटकारा, जानें कैसे करें इसका इस्तेमाल

लोगों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए Truecaller ने अपने ऐप्प में AI कॉल स्कैनर (AI Call Scanner) नाम की एक नई फीचर डेवलप (New Feature Develop in Truecaller) किया है. यह एक प्रकार कर कॉल स्कैनर है, जो स्मार्टफोन पर आने वाली कॉल को सुनकर पता लगा सकता है कि, कॉल करने वाला कोई इंसान है या AI टूल.

Truecaller AI Feature : आजकल अधिकांश लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं और तकनीक भी काफी तेजी से बढ़ रही है. लेकिन कुछ लोग इस तकनीक का इस्तेमाल धोखाधड़ी के लिए करने लगे हैं. धोखाधड़ी करने वाले लोग आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artifical Intelligence) का इस्तेमाल करके किसी की भी आवाज की नकल करते हैं और

- Advertisement -

फिर उसी आवाज में कॉल करके लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं. इस धोखाधड़ी को रोकने के लिए कॉलर आईडी ऐप (Caller ID App Truecaller) ने एक नया फीचर लाया है. आज हम आप सभी को अपने इस लेख के माध्यम से विस्तार से इस फीचर के बारे में जानकारी देंगे.

आपको बता दें कि, लोगों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए Truecaller ने अपने ऐप्प में AI कॉल स्कैनर (AI Call Scanner) नाम की एक नई फीचर डेवलप (New Feature Develop in Truecaller) किया है. यह एक प्रकार कर कॉल स्कैनर है, जो स्मार्टफोन पर आने वाली कॉल को सुनकर पता लगा सकता है कि, कॉल करने वाला कोई इंसान है या AI टूल. अगर इस स्कैनर (Truecaller AI Feature) को लगता है कि, यह कॉल कोई टूल के जरिए किया गया है, तो यह स्कैनर आपको बता देगा कि यह एक फ्रॉड कॉल (Fraud Call) है.

हम आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं कि, Truecaller का यह फीचर (Truecaller AI Feature) अभी सिर्फ अमेरिका में शुरू हुआ है. उम्मीद है कि आने वाले कुछ महीनों में भारत और दूसरे देशों में भी यह फीचर आ जाएगा. Truecaller का कहना है कि, हर महीने दुनिया के 40 करोड़ से ज़्यादा लोग इस ऐप का इस्तेमाल करते हैं. इससे यह पता चलता है कि, आजकल हर किसी को धोखाधड़ी से बचने के लिए ऐसे टूल की काफी ज़रूरत है.

यह भी पढ़ें: बिहार में बदला स्कूल का टाइम टेबल, अब इतने बजे से चलेंगी कक्षाएं

इस फीचर का इस्तेमाल करने के लिए क्या चाहिए

आपको बता दें, Truecaller के इस AI कॉल स्कैनर फीचर (Truecaller AI Call Scanner Feature) का इस्तेमाल करने के लिए लोगों को अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन में Truecaller App का लेटेस्ट वर्जन 14.6 होना जरूरी है. साथ ही, यह फीचर फिलहाल Truecaller (Truecaller AI Feature) के प्रीमियम प्लान में ही मिलेगा, लेकिन आप इसे फ्री ट्रायल के ज़रिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

AI कॉल स्कैनर को कैसे चालू करें

  • इसके लिए अपने सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में Truecaller को मेन कॉलिंग ऐप के तौर पर सेट करें.
  • जब भी आपको कोई संदिग्ध कॉल आए, तो ‘START AI DETECTION’ शुरू करें.
  • इसके बाद कुछ देर के लिए कॉल रुक जाएगी, क्योंकि AI दूसरे व्यक्ति की आवाज़ रिकॉर्ड करके उसका विश्लेषण करेगा.
  • AI के जांच के बाद आपको तुरंत यह जानकारी मिल जाएगी कि, आवाज़ किसी असली व्यक्ति की है या फिर मशीन की.

यह भी पढ़ें: नीट यूजी रिजल्ट में लगे आरोप पर NTA ने दिया ये जवाब

नियर न्यूज टिम रोज़ाना अपने विवर के लिए सरकारी योजना और लेटेस्ट गवर्नमेंट जॉब सहित अन्य महत्वपूर्ण खबर पब्लिश करती है, इसकी जानकारी व्हाट्सअप और टेलीग्राम के माध्यम से प्राप्त कर सकतें हैं। हमारा यह आर्टिकल आपको उपयोगी लगा हों तो अपने दोस्तों को शेयर कर हमारा हौसलाफ़जाई ज़रूर करें।

संबंधित खबरें

Tanisha Mishra
Tanisha Mishra
तनिशा मिश्रा Near News में एडिटर हैं और विभिन्न प्रकार के न्यूज जैसे लेटेस्ट खबर, टेलीकॉम, वेब सीरीज, करियर से सम्बंधित खबर लिखते हैं। ये लेटेस्ट खबर से परिचित रहना पसंद करते हैं। इन्हें [email protected] पर संपर्क किया जा सकता है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

- Advertisment -
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
होमTechnologyTruecaller लाया जबरदस्त फीचर ! फर्जी कॉल से मिलेगा छुटकारा, जानें कैसे...

Truecaller लाया जबरदस्त फीचर ! फर्जी कॉल से मिलेगा छुटकारा, जानें कैसे करें इसका इस्तेमाल

लोगों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए Truecaller ने अपने ऐप्प में AI कॉल स्कैनर (AI Call Scanner) नाम की एक नई फीचर डेवलप (New Feature Develop in Truecaller) किया है. यह एक प्रकार कर कॉल स्कैनर है, जो स्मार्टफोन पर आने वाली कॉल को सुनकर पता लगा सकता है कि, कॉल करने वाला कोई इंसान है या AI टूल.

Truecaller AI Feature : आजकल अधिकांश लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं और तकनीक भी काफी तेजी से बढ़ रही है. लेकिन कुछ लोग इस तकनीक का इस्तेमाल धोखाधड़ी के लिए करने लगे हैं. धोखाधड़ी करने वाले लोग आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artifical Intelligence) का इस्तेमाल करके किसी की भी आवाज की नकल करते हैं और

फिर उसी आवाज में कॉल करके लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं. इस धोखाधड़ी को रोकने के लिए कॉलर आईडी ऐप (Caller ID App Truecaller) ने एक नया फीचर लाया है. आज हम आप सभी को अपने इस लेख के माध्यम से विस्तार से इस फीचर के बारे में जानकारी देंगे.

आपको बता दें कि, लोगों को धोखाधड़ी से बचाने के लिए Truecaller ने अपने ऐप्प में AI कॉल स्कैनर (AI Call Scanner) नाम की एक नई फीचर डेवलप (New Feature Develop in Truecaller) किया है. यह एक प्रकार कर कॉल स्कैनर है, जो स्मार्टफोन पर आने वाली कॉल को सुनकर पता लगा सकता है कि, कॉल करने वाला कोई इंसान है या AI टूल. अगर इस स्कैनर (Truecaller AI Feature) को लगता है कि, यह कॉल कोई टूल के जरिए किया गया है, तो यह स्कैनर आपको बता देगा कि यह एक फ्रॉड कॉल (Fraud Call) है.

हम आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं कि, Truecaller का यह फीचर (Truecaller AI Feature) अभी सिर्फ अमेरिका में शुरू हुआ है. उम्मीद है कि आने वाले कुछ महीनों में भारत और दूसरे देशों में भी यह फीचर आ जाएगा. Truecaller का कहना है कि, हर महीने दुनिया के 40 करोड़ से ज़्यादा लोग इस ऐप का इस्तेमाल करते हैं. इससे यह पता चलता है कि, आजकल हर किसी को धोखाधड़ी से बचने के लिए ऐसे टूल की काफी ज़रूरत है.

यह भी पढ़ें: बिहार में बदला स्कूल का टाइम टेबल, अब इतने बजे से चलेंगी कक्षाएं

इस फीचर का इस्तेमाल करने के लिए क्या चाहिए

आपको बता दें, Truecaller के इस AI कॉल स्कैनर फीचर (Truecaller AI Call Scanner Feature) का इस्तेमाल करने के लिए लोगों को अपने एंड्रॉयड स्मार्टफोन में Truecaller App का लेटेस्ट वर्जन 14.6 होना जरूरी है. साथ ही, यह फीचर फिलहाल Truecaller (Truecaller AI Feature) के प्रीमियम प्लान में ही मिलेगा, लेकिन आप इसे फ्री ट्रायल के ज़रिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

AI कॉल स्कैनर को कैसे चालू करें

  • इसके लिए अपने सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में Truecaller को मेन कॉलिंग ऐप के तौर पर सेट करें.
  • जब भी आपको कोई संदिग्ध कॉल आए, तो ‘START AI DETECTION’ शुरू करें.
  • इसके बाद कुछ देर के लिए कॉल रुक जाएगी, क्योंकि AI दूसरे व्यक्ति की आवाज़ रिकॉर्ड करके उसका विश्लेषण करेगा.
  • AI के जांच के बाद आपको तुरंत यह जानकारी मिल जाएगी कि, आवाज़ किसी असली व्यक्ति की है या फिर मशीन की.

यह भी पढ़ें: नीट यूजी रिजल्ट में लगे आरोप पर NTA ने दिया ये जवाब

नियर न्यूज टिम रोज़ाना अपने विवर के लिए सरकारी योजना और लेटेस्ट गवर्नमेंट जॉब सहित अन्य महत्वपूर्ण खबर पब्लिश करती है, इसकी जानकारी व्हाट्सअप और टेलीग्राम के माध्यम से प्राप्त कर सकतें हैं। हमारा यह आर्टिकल आपको उपयोगी लगा हों तो अपने दोस्तों को शेयर कर हमारा हौसलाफ़जाई ज़रूर करें।

RELATED ARTICLES
Tanisha Mishra
Tanisha Mishra
तनिशा मिश्रा Near News में एडिटर हैं और विभिन्न प्रकार के न्यूज जैसे लेटेस्ट खबर, टेलीकॉम, वेब सीरीज, करियर से सम्बंधित खबर लिखते हैं। ये लेटेस्ट खबर से परिचित रहना पसंद करते हैं। इन्हें [email protected] पर संपर्क किया जा सकता है।
Html code here! Replace this with any non empty raw html code and that's it.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

- Advertisment -