Sunday, January 29, 2023

सेनेटरी पैड बैंक खोलकर किशोरियों ने की एक नई मिसाल कायम


“ललिता बाबू किशोरी महासंघ की किशोरियों ने सेनेटरी पैड बैंक खोलकर रीगा सीतामढ़ी में एक नई मिसाल कायम की”


सीतामढ़ी जिले के रीगा प्रखंड में चार्म संस्था द्वारा सेव दी चिल्ड्रेन के सहयोग से ”शादी : बच्चों का खेल नहीं परियोजना” जो किशोरियों के बेहतरी के लिए गत वर्ष 2016 से यौन प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकार , जीवन कौशल एवं व्यावसायिक प्रशिक्ष्ण जैसे विषयों पर किशोरियों को प्रशिक्षित कर उन्हें सशक्त करना है

ताकि ग्रामीण इलाकों की किशोरियों को जीवन कौशल से जोड़कर उनके बाल विवाह होने के खतरे को कम किया जा सके। कोरोना वैश्विक महामारी के बीच रीगा की किशोरियों ने अपने संगठन ललिता बाबू किशोरी महासंघ के द्वारा किशोरियों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए सेनेटरी पैड बैंक का शुभारंभ किया इस सेनेटरी पैड बैंक को चार्म और सेव द चिल्ड्रन संस्था के द्वारा मदद की जा रही है

जिसका परिणाम यह हुआ कि रीगा के 4 पंचायत के 5 जगह पर महासंघ के द्वारा सेनेटरी पैड बैंक का शुभारंभ हुआ है आज वहां की किशोरियां और महिलाएं रियायत दर पर मार्केट से आधे दर पर सेनेटरी पैड प्राप्त कर रही है तथा किशोरी महासंघ के द्वारा महिलाओं और किशोरियों को सेनेटरी पैड के साथ मासिक धर्म के समय साफ सफाई के प्रति जागरूक भी किया जा रहा है

यह भी पढ़े :  BPNL Bharti 2023 : भारतीय पशुपालन निगम ने निकाली 2826 पदों पर भर्ती, 10वीं-12वीं पास करें आवेदन, जानें सैलरी और अंतिम तिथि

जिससे किशोरियां एवं महिलाओं को मासिक धर्म के समय साफ सफाई के अभाव में यौन प्रजनित बिमारियों से बचाव हो सके। साथ ही किफायती दर पर उसने पैड उपलब्ध कराया जा रहा है इस संदर्भ में बुधवारा गाँव की चाइल्ड चैम्पियन मन्ना कुमारी ने बताया कि सेनेटरी पैड बैंक के खुल जाने से किशोरियां सेनेटरी पैड प्राप्त कर रही हैं और मेरी बातें सुनती हैं और साफ सफाई के बारे में जागरूक हो रही हैं।

परियोजना समन्वयक कमल कुमार ने इस बारे में बताते हुए कहा कि सेनेटरी पैड बैंक से जुड़ने से रीगा के किशोरियों को आर्थिक रूप से मजबूत होने का भी प्रयास किया जा रहा है संस्था के द्वारा आर्थिक स्वालंबन की भी कोशिश की जा रही है इन किशोरियों का अपने महासंघ का अपना बैंक अकाउंट भी है जहां से यह अपना व्यापार से संबंधित गतिविधियां करती हैं यह बहुत काबिले तारीफ की बात है

जहां पूरा देश करोना वैश्विक महामारी से परेशान है वहां पर जीने की राह दिखाई है। संस्था के द्वारा किशोरियों के आर्थिक सशक्तिकरण के तहत उन्हें 4 पंचायत में सिलाई कटाई सेंटर से जोड़ा गया है जिसमें 34 किशोरियां हैं जबकि 9 किशोरियों को सेनेटरी पैड बैंक से जोड़ा गया है जिससे किशोरियां आर्थिक रूप से भी मजबूत हो रही हैं।

यह भी पढ़े :  Bihar University Result : स्नातक पार्ट- वन व थ्री की प्रायोगिक परीक्षा की अंतिम तिथि कल, जानिए कब जारी होगा परिणाम…?

संस्था के परियोजना प्रतिनिधि मोहम्मद साकिब ने कहा कि हालाँकि संस्था के द्वारा पहले से ही लगातार यौन प्रजनन एवं स्वास्थ्य अधिकार और जीवन कौशल जैसे विषय पर किशोरियों को लगातार जागरूक किया जाता रहा है ।

इस कड़ी को और मजबूती देते हुए संस्था की निगरानी में किशोरियों के द्वारा ही संचालित सेनेटरी पेड बैंक का सफलतापूर्वक संचालन किया जा रहा है इस आयोजन में चार्म संस्था के इरशाद, रीना , उषा , सुनीता सरिता एवं रामप्रवेश इत्यादि उपस्थित थे।

Related Articles

Stay Connected

52,251FansLike
3,026FollowersFollow
2,201SubscribersSubscribe

Business

NAUKRI

ASTROLOGY

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.