Saturday, March 6, 2021

शिक्षा विभाग की लापरवाही से 1.62 लाख छात्रों को नहीं मिली पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति, यहां पढ़ें पूरी डिटेल

PATNA: बिहार में शिक्षा विभाग(Education Department) की लापरवाही से एक लाख 62 हजार छात्रों को “Post Matric Scholarship” नहीं मिली है।

इनमें मुजफ्फरपुर के 5450 OBC, SC, ST छात्र शामिल हैं।

शिक्षा विभाग(Education Department) की रिपोर्ट के अनुसार, मुजफ्फरपुर में 3570 OBC, 176 ST और 1704 SC छात्र हैं।

यहां देखें कहां कितने आवेदन लंबित:

मुजफ्फरपुर5450
दरभंगा3184
मधुबनी7123
पूर्वी चंपारण5754
पश्चिमी चंपारण1570
समस्तीपुर4434
शिवहर718
सीतामढ़ी2080

इतने रुपये दी जाती है छात्रवृत्ति:

बता दें कि “Post Matric Scholarship” मैट्रिक(10वीं) में “First Division” और “Second Division” प्राप्त करने पर छात्रों को दी जाती है,

“First Division” प्राप्त करने पर 15,000/- रुपये और “Second Division” प्राप्त करने पर 10,000/- रुपये दिये जाते हैं।

15 मार्च तक आवेदनों को सत्यापित करने का निर्देश:

“Post Matric Scholarship” नहीं मिलने पर मुख्यालय ने सभी जिलों को पत्र जारी कर 15 मार्च 2021 तक सभी आवेदनों को सत्यापित (Verification) कराने का निर्देश दिया है।

एजेंसी करती है छात्रों का सत्यापन:

मैट्रिक(10वीं) पास करने के बाद छात्र-छात्राओं को सरकार की ओर से आगे की पढ़ने के लिए “Post Matric Scholarship” दी जाती है।

इस “Post Matric Scholarship” के ऑनलाइन आवेदन के सत्यापन (Verification) के लिए सरकार या जिला स्तर से एजेंसी का चयन किया जाता है।

यह एजेंसी छात्रों के ऑनलाइन आवेदनों को देखकर पता करती है कि छात्र जिस स्कूल का है, वह सरकार से संबद्ध है या नहीं।

सत्यापित(Verification) करने के बाद सरकार और शिक्षा विभाग (Education Department) को रिपोर्ट दी जाती है।

इसके बाद इसे “National Scholarship Portal (NSP)” पर डाला जाता है, वहां से छात्रों की सूची तैयार होती है और उसके बाद उनके Bank A/C में पैसे भेजे जाते हैं।

नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल की रिपोर्ट के बाद हुआ खुलासा:

“National Scholarship Portal (NSP)” ने शिक्षा विभाग (Education Department) को वर्ष 2018-19 में “Post Matic Scholarship” के लंबित होने की रिपोर्ट दी।

रिपोर्ट में बिहार के सभी जिलों का आंकड़ा दिया गया था. इसके बाद शिक्षा विभाग (Education Department) के प्रधान सचिव ने सभी कमिश्नर और जिलाधिकारी को पत्र लिख कहा कि वे इन आवेदनों को सत्यापित करें और 

“National Scholarship Portal (NSP)” के पोर्टल पर डलवायें ताकि छात्रों को “Post Matric Scholarship” मिल सके, छात्रों के ऑनलाइन आवेदनों को सत्यापित (Verification) कराया जायेगा।

904 आवेदनों को माना गया गलत:

“Post Matric Scholarship” के लिए वर्ष 2018-19 में 7004 ऑनलाइन आवेदन आये थे।

इनमें से 904 को डिफेक्टिव माना गया और 97 ऑनलाइन आवेदनों को रिजेक्ट(Reject) कर दिया गया. सिर्फ 2433 ऑनलाइन आवेदनों को ही सत्यापित(Verification) किया गया।

वहीं 2537 ऑनलाइन आवेदन जिला स्तर(District Level) पर और 1033 आवेदन बोर्ड स्तर(Board Level) पर लंबित है।

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया:

जिला शिक्षा अधिकारी(DEO) अब्दुस सलाम अंसारी ने बताया कि छात्रों के ऑनलाइन आवेदनों को सत्यापित(Verification) कराया जायेगा।

लंबित ऑनलाइन आवेदनों को समाप्त करने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी गयी है. शिक्षा विभाग (Education Department) के सभी निर्देशों का पालन किया जायेगा।

क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक, तिरहुत ने बताया:

क्षेत्रीय शिक्षा उपनिदेशक जीवेंद्र झा ने बताया कि ऑनलाइन आवेदनों का सत्यापन इसलिए नहीं पाया, क्योंकि “National Scholarship Portal (NSP)” का पोर्टल बंद था।

अब पोर्टल खुला गया है तो सभी लंबित ऑनलाइन आवेदनों का सत्यापन(Verification) कर “Post Matric Scholarship” की राशि छात्रों के खाते में भेज दी जायेगी।

Bihar Board + Sarkari Naukri + Scholarship से संबंधित सभी Important News पाने के लिए ग्रुप को JOIN कर पेज को LIKE करें

Whatsapp GroupClick Here
Facebook GroupJOIN Now
Facebook PageClick Here

cc69ed471275239691e4a361de537090?s=96&d=blank&r=g
S.K. JAINhttps://nearnews.in/
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.

Related Articles

Stay Connected

33,257FansLike
500FollowersFollow
1,000SubscribersSubscribe

Latest Articles

- Advertisement -
error: Copyright © 2020 All Rights Reserved.