Saturday, May 21, 2022

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana 2022 : इस योजना से युवाओं को मिल रहा रोजगार, ऐसे मिलेगा लाभ, जाने सबकुछ

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana 2022 : प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana) कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की यह प्रमुख योजना हैं.

इस कौशल प्रमाणन योजना का उद्देश्य बड़ी संख्या में भारतीय युवकों को उद्योग से संबंधित कौशल प्रशिक्षण लेने में सक्षम बनाना हैं जो की उन्हें बेहतर आजीविका हासिल करने में मदद करेगा.

पूर्व में सीखे गए अनुभव या फिर कौशल वाले व्यक्तियों का भी मूल्यांकन और पूर्व शिक्षा की मान्यता के अंतर्गत प्रमाणित किया जाएगा. इस योजना (PMKVY Yojana) के अंतर्गत, प्रशिक्षण और मूल्यांकन शुल्क पूरी तरह से सरकार द्वारा भुगतान की जाती हैं.

________________________
बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े. (अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें, ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन न छूटे)

Telegram GroupJoin Now
Follow FacebookJoin & Follow
Whatsapp GroupJoin Now

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana

अल्पकालिक प्रशिक्षण Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana में दिया जाने वाला अल्पकालिक प्रशिक्षण केंद्रों से भारतीय राष्ट्रीयता के उन उम्मीदवारों को लाभ होने की उम्मीद हैं

जो या तो स्कूल/कॉलेज छोड़ चुके हैं अथवा बेरोजगार हैं. राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क (NSQF) के अनुसार प्रशिक्षण प्रदान करने के अलावें, टीसी सॉफ्ट स्किल्स, उद्यमिता, वित्तीय और डिजिटल साक्षरता में भी प्रशिक्षण प्रदान करेगा. 

प्रशिक्षण की अवधि प्रति कार्य भूमिका में भिन्न होता हैं, जो 150 से 300 घंटों के बीच होती हैं. अपने मूल्यांकन के सफल समापन पर, उम्मीदवारों को प्रशिक्षण भागीदारों द्वारा प्लेसमेंट सहायता प्रदान किया जाएगा. 

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के तहत, पूरे प्रशिक्षण और मूल्यांकन शुल्क का भुगतान सरकार द्वारा की जाती हैं. सामान्य मानदंडों के अनुरूप टीपी को भुगतान प्रदान किया जाएगा। 

इस योजना (PMKVY Yojana) के अल्पकालिक प्रशिक्षण घटक के अंतर्गत दिया जाने वाला प्रशिक्षण NSQF स्तर 5 और उससे नीचे का होगा.

PM Kaushal Vikas Yojana के लिए पात्रता मानदंड

पीएम कौशल विकास योजना (Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana) के लिए पात्रता इस प्रकार से है.

  • एक भारतीय नागरिक होना चाहिए
  • हिंदी और अंग्रेजी भाषाओं का बुनियादी ज्ञान होना चाहिए
  • केवल उन लोगों के लिए उपलब्ध है जो बेरोजगार हैं और जिनके पास आय का कोई स्रोत नहीं है
  • केवल एसएससी / 12 वीं कक्षा पूरी करने वाले छात्रों को भी इस योजना ( PMKVY ) का उपयोग करने का अवसर मिलता है !

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana का कार्य

इस योजना (PM Kaushal Vikas Yojana) पर काम करने में कई महत्वपूर्ण अवधारणाएँ हैं.

  • एसटीटी-अल्पकालिक प्रशिक्षण
  • विशेष परियोजनाएं
  • पहले की सीख की मान्यता
  • नियुक्ति सहायता
  • मानक बोर्डिंग और संचार

पूर्व के अनुभव या कौशल वाले व्यक्तियों की मान्यता

मूल्यांकन और योजना (PMKVY Yojana) के पूर्व शिक्षा घटक की मान्यता के अंतर्गत प्रमाणित किया जाएगा. RPL का उद्देश्य देश के अनियमित कार्यबल की दक्षताओं को NSQF के साथ जोड़ना हैं.

परियोजना कार्यान्वयन एजेंसियों (पीआईए), जैसे कि सेक्टर कौशल परिषद (SSC) या MSDE/NSDE द्वारा नामित किसी भी अन्य एजेंसियों को तीन परियोजना प्रकारों

(RPL शिविरों, नियोक्ता परिसरों और आरपीएल केंद्रों में आरपीएल) में से किसी में भी RPL परियोजनाओं को लागू करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा. ज्ञान अंतराल को दूर करने के लिए, PIA/RPL उम्मीदवारों को ब्रिज कोर्स की पेशकश कर सकते हैं।

विशेष परियोजनाएं

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के विशेष परियोजना घटक में एक ऐसे मंच के निर्माण की परिकल्पना किया गया हैं जो विशेष क्षेत्रों या सरकारी निकायों, कॉरपोरेट्स या उद्योग निकायों के परिसरों में प्रशिक्षण की सुविधा प्रदान करेगा,

और उपलब्ध योग्यता पैक के अंतर्गत परिभाषित नहीं की गई विशेष नौकरी भूमिकाओं में प्रशिक्षण प्रदान करेगा। QP/राष्ट्रीय व्यावसायिक मानक (NOS)

विशेष परियोजनाएं ऐसी परियोजनाएं हैं जिनमें किसी भी हितधारक के लिए PMKVY Yojana के तहत अल्पकालिक प्रशिक्षण के नियमों और शर्तों से कुछ विचलन की आवश्यकता होती है.

एक प्रस्तावित हितधारक या तो केंद्र और राज्य सरकार के सरकारी संस्थान/स्वायत्त निकाय/सांविधिक निकाय या कोई अन्य समकक्ष निकाय या कॉर्पोरेट हो सकते हैं जो उम्मीदवारों को प्रशिक्षण प्रदान करना चाहते हैं.

कौशल और रोजगार मेला

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana की सफलता के लिए सामाजिक और सामुदायिक लामबंदी अत्यंत ही महत्वपूर्ण हैं. समुदाय की सक्रिय भागीदारी पारदर्शिता और जवाबदेही सुनिश्चित करता है

और बेहतर कामकाज के लिए समुदाय के संचयी ज्ञान का लाभ उठाने में भी मदद करती हैं. इसके अनुरूप, PMKVY Yojana एक परिभाषित लामबंदी प्रक्रिया के माध्यम से लक्षित लाभार्थियों की भागीदारी को विशेष महत्व देता हैं.

टीपी प्रेस मीडिया कवरेज के साथ हर छह महीने में कौशल और रोजगार मेलों (Rojgar Mela) का आयोजन करता हैं. उन्हें राष्ट्रीय Career सेवा मेलों और जमीनी गतिविधियों में सक्रिय रूप से भाग लेने का भी अवसर प्रदान करता हैं.

प्लेसमेंट दिशानिर्देश

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana में कुशल कार्यबल की योग्यता, आकांक्षा और ज्ञान को रोजगार के अवसरों और बाजारों में मांगों के साथ जोड़ने की परिकल्पना किया गया हैं.

इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षित और प्रमाणित उम्मीदवारों को प्लेसमेंट के अवसर प्रदान करने के लिए Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana में टीपी द्वारा हर संभव प्रयास किए जाने की आवश्यकता हैं. बताते चले कि टीपी उद्यमिता विकास को भी सहायता प्रदान करेंगे.

नामांकन प्रक्रिया

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए सरकार ने विभिन्न दूरसंचार ऑपरेटरों के साथ एक साझेदारी की हैं.

राष्ट्रव्यापी लॉन्च के बाद दूरसंचार ऑपरेटरों द्वारा इस योजना के बारे में बड़े पैमाने पर SMS भेजा जाता हैं. जरूरत पड़ने पर आप Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana Toll Free Number 1800 102 6000

बता दें कि आईवीआर से जोड़ने के लिए एक स्वचालित कॉल बैक प्राप्त होगा. इस स्तर पर संभावित उम्मीदवार को सिस्टम में अपना विवरण दर्ज करना हैं.

इन विवरणों को रिकॉर्ड और स्क्रीन किया जाता हैं. प्रशिक्षण कार्यक्रमों के लिए नामांकन के लिए पात्र उम्मीदवारों को आपके निकटतम प्रशिक्षण केंद्र का विवरण प्रदान की जाएगी और उन्हें प्रशिक्षण तिथियों पर रिपोर्ट करने को कहा जाएगा.

PMKVY Toll Free Number : 1800 102 6000

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Business

NAUKRI

ASTROLOGY

error: Copyright © 2022 All Rights Reserved.