Monday, December 6, 2021

PM Mudra Loan Yojana : अपना बिजनेस शुरू करने के लिए बिना गारंटी के पैसा दे रही सरकार, जाने सबकुछ

PM Mudra Loan Yojana : 8 अप्रैल 2015 को PM Mudra Loan Yojana की शुरुआत की गई. केंद्र सरकार ने इस मुद्रा लोन योजना के लिए 300000 कड़ोर रुपए का बजट तैयार करवाया गया.

कोरोना की वजह से भारत की अर्थव्यवस्था चरमरा सी गई हैं अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है. जिस कारण महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा हैं.

ऐसे में मोदी सरकार लोगों को व्यापारी में प्रोत्साहित करने के लिए लगातार कर्ज दे रही हैं. एक नया व्यवसाय शुरू करने के लिए, कई योजनाओं को बनाया गया हैं,

जिसके अंतर्गत आप बिना गारंटी ऋण (Loan) लेकर अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. ऐसे में अगर आप भी अपना कोई व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो आप सरकार के इन योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं.

सभी लेटेस्ट सरकारी नौकरी बिहार नोटिफिकेशन से अपडेटेड रहने के लिए इन ग्रुपों को अभी जॉइन करें.

Telegram GroupJoin Now
Facebook GroupAvailable Soon
Whatsapp GroupJoin Now

PM Mudra Loan Yojana

इसके तहत आपको अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए 10 लाख रुपये तक का ऋण (Loan) दी जाती हैं. इसके अंतर्गत आने वाले कुछ योजनाओं में तो गारंटी की भी आवश्यकता नहीं होती हैं.

कर्ज (Loan) को लेकर भारत सरकार की ओर से ऐसी कई सारी योजनाएं चलाई गई हैं. इन योजनाओं की मदद से आप अपना व्यापार भी शुरू कर सकते हैं, तो आइए जानते हैं कौन सी योजनाएं हैं जो आपको अपना व्यापार शुरू करने में मदद कर सकती हैं.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने PM Mudra Loan Yojana की शुरुआत की थी. यह योजना (PMMY) उन लोगों के लिए अधिक लाभदायक है, जिन्हें बैंकों के नियमों (Bank Rule) का पालन नहीं करने के कारण अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण (Loan) नहीं मिल पाता.

PM Mudra Loan Yojana के अंतर्गत हर वह व्यक्ति जिसके नाम पर कुटीर उद्योग है या जिसके पास साझेदारी के दस्तावेज हैं, वह कर्ज (Loan) ले सकता हैं.

PM Mudra Loan Yojana के तहत तीन चरणों में ऋण (Loan) दिया जाता हैं. सरकार ने इसे शिशु ऋण, किशोर ऋण और तरुण ऋण योजना (Loan Yojana) में विभाजित किया हैं.

इस योजना (PMMY) के अंतर्गत अगर आप दुकान खोलना चाहते हैं तो 50,000 रुपये तक का कर्ज लिया जा सकता हैं. इसके बाद किशोर ऋण योजना (Kishor Loan Yojana) के तहत 50,000 रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाता है.

इसके बाद तरुण योजना आती है, इसके तहत यदि आप लघु उद्योग शुरू करने का सोच रहें हैं तो तरुण ऋण योजना (Tarun Loan Yojana) में 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक का ऋण लिया जा सकता हैं.

मुद्रा लोन योजना

Pradhan Mantri Mudra Yojana सिर्फ छोटे व्यापारियों और व्यापारियों के लिए हैं. अगर आप कोई बड़ा बिजनेस शुरू करने की सोच रहें हैं तो आपको PMMY योजना के तहत लोन नहीं मिलेगा.

PMMY के तहत इन व्यवसायों के लिए मिलेगा लोन
छोटी असेंबलिंग यूनिट,
सर्विस सेक्टर यूनिट,
दुकानदार, फल/सब्जी विक्रेता,
ट्रक ऑपरेटर,
फूड सर्विस यूनिट,
रिपेयर शॉप,
मशीन ऑपरेशन,
लघु उद्योग,
कारीगर,
फूड प्रोसेसिंग यूनिट

ऊपर वर्णित व्यवसायों को शुरू करने के लिए मुद्रा लोन लिया जा सकता है.

PMMY के तहत किसी भी सरकारी बैंक, ग्रामीण बैंक, सहकारी बैंक, निजी बैंक या विदेशी बैंक से कर्ज ली जा सकती हैं. RBI ने 27 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, 17 निजी बैंक, 31 ग्रामीण बैंक, 4 सहकारी बैंक, 36 सूक्ष्म वित्त संस्थानों सहित 25 गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) को मुद्रा ऋण वितरित करने के लिए अधिकृत किया है।

Pradhan Mantri Mudra Yojana के बारे में अधिक जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट mudra.org पर जाएं. ऋण से संबंधित यहां पर आप पूरा विवरण देख सकते हैं.

मुद्रा लोन लेने के लाभ

Pradhan Mantri Mudra Yojana के अंतर्गत दिए जा रहें Mudra Loan की प्रमुख विशेषताएं और लाभ यहां दिया हैं

ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है.
सूक्ष्म-लघु व्यवसायों और स्टार्ट-अप द्वारा वित्तीय सहायता प्राप्त की जा सकती है.
किफायती ब्याज दरों पर छोटी राशि के लिए व्यवसाय लोन (Business Loan) लिया जा सकता है.
उधारकर्ता की क्रेडिट गारंटी सरकार द्वारा ली जाती हैं, इसलिए यदि कोई उधारकर्ता उधार ली गई राशि को चुकाने में असमर्थ हैं, तो नुकसान की जिम्मेदारी सरकार द्वारा वहन की जाएगी.

आपको बता दें कि खाद्य विक्रेता, दुकानदार और अन्य छोटे व्यवसाय के मालिक PM Mudra Loan Yojana का अधिक से अधिक लाभ उठा सकते हैं. इस PMMY योजना के माध्यम से उन क्षेत्रों में वित्तीय सहायता उपलब्ध हैं जहां लोगों की बुनियादी बैंकिंग सुविधाओं तक पहुंच नहीं हैं.

ऋण अवधि PMMY Loan Period

Pradhan Mantri Mudra Yojana की चुकौती अवधि सात साल तक बढ़ाया जा सकता हैं. महिला उधारकर्ता भी रियायती ब्याज दरों पर ऋण का लाभ उठा सकती हैं.

नामित ऋणदाताओं के साथ पुनर्वित्त योजनाओं का लाभ उठाया जा सकता हैं. जो व्यक्ति सूक्ष्म उद्यम गतिविधियों के माध्यम से आय अर्जित करना चाहते हैं, वे Micro Credit Yojana का लाभ उठा सकते हैं.

Mudra Loan Yojana “मेक इन इंडिया” अभियान के सहयोग से है, जिसे सरकार ने नवाचार को बढ़ावा देने, निवेश की सुविधा, कौशल विकास में सुधार और देश में सर्वोत्तम विनिर्माण बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए शुरू किया हैं.

इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसी संपार्श्विक या सुरक्षा की आवश्यकता नहीं होती है. बताते चले कि इस योजना के माध्यम से उधार ली गई धनराशि का उपयोग केवल और केवल व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए किया जा सकता हैं.

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Business

NAUKRI

ASTROLOGY

error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.