Saturday, September 25, 2021

अब हर सैनिक स्‍कूल में पढ़ेंगी बेटियां… लाल किले से PM मोदी का बड़ा ऐलान, जानें कैसे होता है एडमिशन

NEW DELHI : देश की बेटियों के लिए अच्‍छी खबर (Good News) है। वे किसी भी Sainik School में एडमिशन के लिए Apply कर सकेंगी।

यानी देश के सभी Sainik Schools के दरवाजे अब उनके लिए भी खुलेंगे।

सभी लेटेस्ट सरकारी नौकरी बिहार नोटिफिकेशन से अपडेटेड रहने के लिए इन ग्रुपों को अभी जॉइन करें.

Telegram GroupJoin Now
Facebook GroupAvailable Soon
Whatsapp GroupJoin Now

PM मोदी ने लाल किले की प्राचीर से किया ऐलान:

PM नरेंद्र मोदी ने रविवार को लाल किले की प्राचीर से इसका ऐलान (Announcement) किया।

देश में अभी 33 सैनिक स्कूल (Sainik School) चलाए जा रहे हैं। इनमें से कुछ में ही लड़क‍ियों का Admission होता था।

PM मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने भाषण में कहा कि ढाई साल पहले मिजोरम में Sainik Schools में बेटियों के Admission का पहला प्रयोग किया गया था।

उन्होंने कहा, ‘सरकार ने अब Decision किया है कि देश के सभी Sainik School देश की बेटियों के लिए भी खोले जाएंगे।’

PM मोदी बोले, ‘यह देश के लिए गौरव की बात है कि शिक्षा हो या खेल, बोर्ड्स के नतीजे हों या ओलिंपिक का मेडल, हमारी बेटियां आज अभूतपूर्व प्रदर्शन कर रही हैं।

आज भारत की बेटियां अपना स्पेस लेने के लिए आतुर हैं। मुझे लाखों बेटियों के संदेश मिलते थे कि वे भी Sainik School में पढ़ना चाहती हैं, उनके लिए भी Sainik Schools के दरवाजे खोले जाएं।’

सैनिक स्‍कूलों में कैसे होता है एडमिशन?

बताते चलें की Sainik Schools का संचालन Sainik School Society करती है। यह Society रक्षा मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत आती है।

वहीं Sainik Schools की स्थापना का उद्देश्य छात्रों को कम उम्र से ही भारतीय सशस्त्र बलों में प्रवेश(Entry) के लिए तैयार करना था।

ये स्कूल वीके कृष्ण मेनन के दिमाग की उपज हैं। मेनन April, 1957 से October, 1962 तक केंद्रीय रक्षा मंत्री थे। उन्‍होंने 1961 में इस विचार की कल्पना की थी।

Sainik Schools में एडमिशन के लिए ऑल इंडिया सैनिक स्कूल एंट्रेस एग्‍जाम (AISSEE) आयोजित कराया जाता है।

यह Entrance Exam केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के पैटर्न पर होता है।

कक्षा 6 और 9 के लिए छात्रों को Entrance Exam में उनके प्रदर्शन के आधार पर प्रवेश दिया जाता है।

कक्षा 11 के लिए प्रवेश का आधार कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षा में प्राप्त अंक होते हैं।

र‍िजर्वेशन का रखना होगा ध्यान:

ध्यान देने वाली बात यह है कि 67% सीटें उन छात्रों के लिए आरक्षित होती हैं,

जो किसी Sainik School के गृह राज्य से हैं। बाकी 33% छात्रों को गृह राज्य के बाहर से प्रवेश दिया जाता है।

अनुसूचित जाति (SC) 15%, अनुसूचित जनजाति (ST) 7.5%, अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) 27% और वर्तमान और पूर्व सैनिकों (25%) के बच्चों के लिए भी आरक्षण है।

इस समय देश में 33 सैनिक स्कूल (Sainik School) हैं। उत्तर प्रदेश (U.P.) में तीन सैनिक स्कूल हैं।

वहीं, आंध्र प्रदेश, Bihar, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, महाराष्ट्र, Odisha और राजस्थान में दो-दो ऐसे स्कूल हैं।

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Business

NAUKRI

ASTROLOGY

error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.