Monday, December 6, 2021

‘फेल हुई तो ब्याह कर देंगे’ धमकी सुन बंद कमरे में की UPSC की पढ़ाई, IAS अफसर बनकर ही मानी ये लड़की

UPSC Topper Nidhi Siwach: लड़कियों के ऊपर शादी का कर देने का प्रेशर हमेसा से ही बनाया जाता रहा है और ये गांव/शहर सभी जगह बराबर हैं.

गांवों में लड़कियों के 12th करते ही शादी करने का प्रेशर बनने लगता है. इससे अधिकतर लड़कियों की पढ़ाई बीच मे ही छूट जाती हैं. वहीं अगर बात यूपी, बिहार और हरियाणा जैसे राज्यों की करें तो यहां लड़कियों की स्थिति और दयनीय नजर आती हैं.

ऐसा ही गुरुग्राम, हरियाणा की रहने वाली निधि सिवाच की जिंदगी भी पढ़ाई और शादी के बीच लटकी हुई थी. निधि सिवाच आज IAS Officer हैं लेकिन निधि सिवाच ने कड़ी मेहनत और फैमिली प्रेशर के बीच उन्होंने अपने इस सपने को पूरा किया है.

घरवालों ने धमकी दी थी कि फेल हुई तो तेरा ब्याह कर देंगे और उसी लड़की ने UPSC Clear कर इतिहास रच दिया. IAS Success Story में हम आपको निधि सिवाच के आम लड़की से अफसर बनने की कहानी बता रहे हैं.

निधि की शुरुआती पढ़ाई हरियाणा में ही हुई है. निधि सिवाच ने ग्रेजुएशन भी हरियाणा के एक ही कॉलेज से किया और वो मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बाद हैदराबाद की एक Company में Job करने लगीं.

यहां उन्होंने दो साल तक काम किया लेकिन काम पर उनका मन नहीं लगा. वो देश के लिए कुछ करना चाहती थीं.

इसलिए निधि ने AFCAT Exam दी और लिखित परीक्षा पास कर ली. इसके बाद के दिए SSB Interview ने उनकी जिंदगी ही बदल दी. वहां Interviewer ने उनसे कहा कि उन्हें Defence की जगह Civil Service चुननी चाहिए.

उसके बाद निधि ने Civil Services में जाने की ठान ली और UPSC से जुड़ी जानकारी जुटाने लगीं. निधि ने जब अपना पहला अटेम्पट दिया था तब उस समय परीक्षा के बस तीन महीने बचे थे

और अभी निधि UPSC Syllabus भी खत्म नहीं कर पायी थीं. दूसरी अटेम्पट में भी उनकी तैयारी वैसी नहीं थी जैसी की इस परीक्षा के लिए होना चाहिए. इस समय तक निधि Naukri भी कर रही थीं और उनके लिए पढ़ाई के लिए जो समय चाहिए वो निकालना मुश्किल होता था.

दो बार असफल होने के बाद घर वालों ने निधि पर शादी का प्रेशर डालना शुरू कर दिया. फिर निधि ने अपने पिता से एक आखिरी मौका मांगा. पिता ने आज्ञा दे दिया लेकिन मां-बाप ने यह धमकी भी दी कि, इस बार फेल हुई तो पक्का शादी कर देंगे.

परिवार ने यह शर्त रखी कि परीक्षा में जिस स्टेज में तुम फेल होगी वहीं पर आगे की पढ़ाई रोककर तुरंत शादी कर दी जाएगी. यानी प्री में अथवा मेन्स में फेल हुईं तो वहां से आगे की पढ़ाई छुड़वाकर शादी करवा दी जाती.

निधि किसी भी हाल में UPSC के सपने को छोड़ना नहीं चाहती थीं. उन्होंने अपने इस आखिरी मौका का भरपूर फायदा उठाया और पहले से चार गुना ज्यादा मेहनत की.

यहां तक कि निधि Naukri छोड़कर अपने घर आ गयीं और दिन रात पढ़ाई में जुट गई. निधि ने UPSC की तैयारी के लिए Self Study का रास्ता अपनाया.

इस दौरान निधि ने खुद को कमरे में कैद कर लिया. 6 महीने के बाद निधि ने अपने घर का मेन गेट देखा, वो भी प्री परीक्षा देने के लिए. निधि ने बिना किसी Coching Join किए UPSC की तैयारी की.

उन्होंने न Coching ली, न किसी Test Series Group से जुड़ीं. निधि के परिवार में भी कोई Sarkari Naukri पर नहीं था.

फिर भी Self Study और खुद पर भरोसा कर निधि ने सफलता हासिल की. घर पर पढ़ाई के बारे में निधि कहती हैं घर पर पढ़ाई करने के दौरान डिस्ट्रैक्शंस होता हैं. लेकिन Students को किसी भी प्रकार के डिस्ट्रैक्शन से खुद को दूर ही रखना चाहिए.

साल 2018 में निधि ने तीसरे प्रयास में UPSC Civil Service Exam पास की. निधि ने 83वीं रैंक के साथ Top किया और वो IAS के लिए चुनी गईं.

दो प्रयासों में Selection न होने का जिम्मेदार वे स्वयं को ही मानती हैं. वो कहती हैं कि तैयारी मजबूत हो तभी आप इस UPSC Exam को पार कर सकते हैं, जरा सी कमी आपको वापस लौटा देती है.

निधि के यूपीएससी कैंडिडेट्स के लिए टिप्स

निधि कहती हैं की, घर में बंद रहने का मतलब यह कतई नहीं होता कि आप बाहर की दुनिया के Compitition से ही कट जाओ. Online सब सुविधाएं हैं,

उनका इस्तेमाल करो और देखो की बाकी बच्चों की भीड़ में आप कहा स्टैंड कर रहे हो और आपकी तैयारियों का लेवल क्या है. निधि खूब Mock Test देती थीं और खुद ही Internet पर मौजूद Toppers के उत्तरों से उन्हें मैच भी करती थीं.

वे कहती हैं UPSC आपके बहुत से गुणों की परीक्षा लेता है जैसे पेशेंस, मेहनत, Smart Work, नॉलेज का इंप्लीमेनटेशन आदि. अगर सही दिशा में सही इरादे के साथ बढ़ेंगे तो भले देर से ही लेकिन सफलता जरूर मिलेगी.

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Business

NAUKRI

ASTROLOGY

error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.