Saturday, April 17, 2021

पढ़ाई के साथ 6 लाख रुपये महीना ऐसे कमा रही हैं श्रद्धा, आप भी अपना सकते हैं ये बिजनेस आइडिया

कहा जाता है कि अगर कोई व्यक्ति कुछ करने की ठान ले तो वह हर दिक्कतों को पार कर जाता है. कुछ ऐसा ही महाराष्ट्र के अहमदनगर की रहने वाली लड़की श्रद्धा धवन ने कर दिखाई है.

अभी श्रद्धा 21 साल की हैं और खास बात यह है कि श्रद्धा करीब 10 साल से इस Business को संभाल रही हैं. मतलब की, श्रद्धा ने 11 साल की उम्र से ही

Business शुरू कर दिया था और उस Business में वह इतनी सफल हुई कि आज वो सलाना 72 लाख रुपये तक कमा रही हैं.

Business की वजह से श्रद्धा की पढ़ाई भी प्रभावित हुई हैं. लेकिन, उन्होंने अपनी पढ़ाई के साथ-साथ अपने Business पर ध्यान देकर उन्होंने इस मुकाम को हासिल किया.

वैसे यह Business उनके घर का ही था, लेकिन लगातार नुकसान होने की वजह से उन्होंने अपने पापा से इसकी कमान अपने हाथ में ले लिया.

इसके बाद वह अपने तरीके से Business चलाया और आज श्रद्धा अन्य लोगों के लिए मिसाल हैं. ऐसे में जानते हैं कि श्रद्धा का किस तरह का Business है और उन्होंने किस तरह से इस Business में सफलता हासिल की…

किसका है बिजनेस?

श्रद्धा के पिता डेयरी का Business करते थे और उनके पास 6 भैंस था. लेकिन, धीरे-धीरे Business कम होता गया और बाद में 1 भैंस ही रह गई था,

जिससे परिवार के भरण पोषण जितना भी फायदा नहीं हो रहा था. श्रद्धा धवन के पिता दिव्यांग हैं, लिहाजा उन्हें Bike पर दूध ढोकर दूर-दूर तक बेचने को जाना होता था.

यह काम श्रद्धा के पिता के लिए मुश्किल था क्योंकि शारीरिक परिस्थितयां जवाब दे रही थीं. इस वजह से उनकी लगभग भैंसें बिक गईं और 1998 तक सिर्फ एक ही रह गई थी.

11 साल की उम्र में श्रद्धा धवन पिता के साथ डेयरी (Dairy) के काम में उतर गईं और भैंसों का दूध निकाल कर बेचना शुरू कर दिया. इसके बाद उन्होंने अपने तरीके से Business को आगे बढ़ाया.

श्रद्धा के लिए ये काफी आसान नहीं रहा, इसके लिए श्रद्धा को दूध सप्लाई के लिए जाना होता था. वो खुद Bike से दूध सप्लाई करने जाने लगीं.

इतना ही नहीं, उन्होंने साइंस के नजरिए से भी भैंस और डेयरी प्रोडक्ट (Dairy Products) के बारे में जानकारी हासिल की. भैंस के चारे से लेकर कई बातों पर ध्यान रखा जाने लगा और उनका कारोबार फिर से ट्रैक पर आ गया.

IMG 20210228 WA0002 min

कैसे बढ़ा कारोबार?

उन्होंने विज्ञान की मदद से भैंसों पर खास ध्यान दिया और भैंसों के बारे में सारी जानकारियों कक हासिल की. साथ ही उन्होंने भैंस के साथ डेयरी (Dairy) में फैट के सिस्टम को समझा

और जो काम सिर्फ यूं ही चल रहा था, उसमें विज्ञान का इस्तेमाल किया. डेयरी प्रोडक्ट (Dairy Products) को बेचने से लेकर उनकी उत्पादकता बढ़ाने तक श्रद्धा ने काफी जानकारियों को हासिल की.

इतना ही श्रद्धा ने भैंस के चारे पर भी खास काम किया, जहां आज ज्यादा दूध उत्पादन के लिए सुइयां दी जाती हैं वहीं श्रद्धा का परिवार भैंसों को सिर्फ ऑर्गेनिक चारा ही खिलाते है.

इससे उनके व्यापार में काफी बढ़ोतरी हुई. साथ ही जहां उनकी भैंस रहती हैं, वो उन्होंने सफाई का भी खास ध्यान रखा. सफाई के साथ ही भैंसों को Health Check Up करवाया जाता है,

जिससे भैंस स्वस्थ रहता हैं और दूध की मात्रा भी बढ़ती है. इन Technical चीजों के साथ श्रद्धा की मेहनत ने भी काफी काम किया हैं.

श्रद्धा अपनी पढ़ाई के साथ-साथ Business पर ध्यान देती थी, श्रद्धा के पास जब पहले काम कम था तो वह खुद ही काफी सारा काम करती थीं, जिसमें दूध निकालने से लेकर दूध की सप्लाई तक शामिल है.

अब कितना है कारोबार?

Reports के मुताबिक, एक भैंस के साथ शुरू हुआ उनका डेयरी प्रोडक्ट (Dairy Products) का Business अब काफी अच्छा चल रहा है.

अब श्रद्धा के पास 80 से ज्यादा भैंस हैं. उन्होंने डेयरी (Dairy) के उद्योग से अपना 2 मंजिला मकान भी बनवाया है. भैंसों को रखने के लिए इतना बड़ा शेड बन गया है कि पूरे जिले में ऐसा कोई दूसरा शेड नहीं है.

आज परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद मजबूत है और महीने का Income 6 लाख रुपये तक पहुंच चुका है.

आसपास के लोगों को जब पता चला कि दूध शुद्ध है, उसमें किसी तरह का कोई मिलावट नहीं, इससे बिक्री में काफी तेजी देखा गया.

हर दिन करीब 450 लीटर दूध का उत्पादन होता है. दूध का Business सही चलने के साथ परिवार का पालन-पोषण भी बेहद अच्छे ढंग से हो रहा है. आज श्रद्धा लोगों के लिए मिशाल बन चुकी हैं.

12925a9378c0ce72ce930f3778bec96c?s=96&d=blank&r=g
Near Newshttp://nearnews.in
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.

Related Articles

Stay Connected

33,257FansLike
500FollowersFollow
1,000SubscribersSubscribe

Latest Articles

- Advertisement -
error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.