Friday, July 30, 2021

डेढ़ दर्जन डिग्री कॉलेजों के प्राचार्यों समेत उपकुलसचिव के खिलाफ होगी कार्रवाई, पढ़ें पूरा मामला

BRA Bihar University Muzaffarpur : BRABU के डेढ़ दर्जन डिग्री कॉलेजों के प्राचार्यों समेत BRABU के उपकुलसचिव के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि स्नातक सत्र 2019-22 में 25 हजार छात्र-छात्राओं के बिना मान्यता के “Admission” लेने के मामले में इन्हें दोषी पाया गया है।

विद्यार्थियों के भविष्य को देखते हुए उन्हें दूसरे कॉलेज में किया गया टैग:

BRABU के कुलपति प्रो. हनुमान प्रसाद पांडेय ने बताया कि सात सदस्यीय जांच कमेटी की ओर से जो रिपोर्ट सौंपी गई है उसकी समीक्षा के बाद विद्यार्थियों के भविष्य को देखते हुए उन्हें

स्नातक/पीजी में नामांकन/परीक्षाएं और अपने कॉलेज/यूनिवर्सिटी की अन्य महत्वपूर्ण नोटिफिकेशन पाने के लिए यहां क्लिक कर अभी जॉइन हो जाये.
Telegram : Join
Facebook : Like

दूसरे कॉलेज में TAG कर दिया गया है, जबकि इस प्रकरण में कॉलेज के प्राचार्य की ओर से पूरी गड़बड़ी करने का मामला सामने आया है।

जब उन कॉलेजों की ओर से छात्रों का “Registration” करने के लिए फाइल बढ़ाया गया तो “Deputy Register” ने भी इसकी जांच किए बिना Registration” कर लिया। इस कारण इनकी गलती भी उजागर हुई है।

दोषियों पर कार्रवाई जरूरी:

BRABU के कुलपति ने बताया कि इस प्रकार की गड़बड़ी दोबारा नहीं हो इसके लिए दोषियों पर कार्रवाई जरूरी है। सभी से स्पष्टीकरण पूछा गया था, इस बीच BRABU बंद हो गया।

कुछ कॉलेजों की ओर से इसका जवाब आया है, उसे देखा जा रहा है। जबकि, अन्य कॉलेजों की ओर से जवाब आ जाने के बाद उनपर कार्रवाई होगी।

छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ का अधिकार किसी को नहीं:

BRABU के कुलपति ने बताया कि दोषियों पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। क्योंकि, छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ का अधिकार किसी को नहीं है।

बताया कि छात्रों का 2 वर्ष बर्बाद नहीं हो इसके लिए जांच कमेटी की रिपोर्ट की समीक्षा के बाद उन्हें दूसरे कॉलेज में TAG कर दिया गया है।

उनका वर्तमान “Registration” ही वैध रहेगा, जबकि “Registration Card” व “Marksheet” पर नए TAG  कॉलेज का नाम दर्ज रहेगा।

यह था पूरा मामला:

स्नातक सत्र 2019-22 में BRABU की ओर से “Online Admission” लिया गया था। इसी बीच 18 डिग्री कॉलेजों ने छात्रों से “Offline Form”” भरवाकर उनका एडमिशन ले लिया।

इन कॉलेजों को “Admission” के लिए मान्यता ही नहीं थी। इसके बाद BRABU की ओर से बिना जांचे इन कॉलेज के छात्रों का “Registration” भी कर लिया गया।

ऑनलाइ स्नातक पार्ट- वन का परीक्षा फॉर्म भरने के दौरान जांच के क्रम में इन कॉलेजों को मान्यता नहीं होने की बात सामने आई तो संबंधित कॉलेजों का नाम BRABU के पोर्टल से हटा दिया गया।

इसके बाद BRABU के कुलपति की ओर से सात सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया गया था। उसकी रिपोर्ट के बाद यह निर्णय लिया गया।

कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन करेगा छात्र राजद :

छात्र राजद के प्रदेश प्रधान महासचिव चंदन यादव ने BRABU के दोषी अधिकारियों और कर्मचारियों पर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।

चंदन ने विज्ञप्ति जारी कर बताया है कि BRABU की मिलीभगत से इस पूरे मामले को अंजाम दिया गया है।

इसमें BRABU के शीर्ष पदाधिकारियों ने मोटी रकम लेकर इन कॉलेज के छात्रों का “Registration” कर दिया।

जब मान्यता नहीं थी तो किस आधार पर उन कॉलेजों को स्नातक पार्ट- वन का ऑनलाइन परीक्षा फॉर्म भरने के लिए BRABU के पोर्टल पर डाल दिया गया।

उन्होंने बताया कि इस पूरे प्रकरण में कुलपति भी दोषी हैं। सभी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए, ताकि छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ बंद हो सके।

College/University + Naukri + Scholarship + अन्य महत्वपूर्ण खबरों से अपडेटेड रहने के लिए ग्रुप को JOIN कर हमें अभी Follow करें

TelegramJoin Now
WhatsappJoin Now
Sarkari NaukriJoin Now
InstagramFollow
Facebook PageFollow
Facebook GroupJoin Now

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Latest Article

RECIPE

NAUKRI NOTIFICATION

ASTROLOGY

- Advertisement -
error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.