तीन महीने का फीस नही ले सकते स्कूल वाले, पटना हाई कोर्ट ने दिया फैसला!

पटना हाईकोर्ट द्वारा डीएम के आदेश को बरकरार रखते हुए दिया यह फैसला, संत पॉल स्कूल के याचिका पर पटना हाईकोर्ट चीफ जस्टिस ने की सुनवाई।

MGID

पटना डीएम के दिए गए निर्देशों में हस्तक्षेप से इनकार करते हुए, संत पॉल इंटरनेशनल स्कूल की याचिका पर पटना हाईकोर्ट चीफ जस्टिस संजय करोल की खण्डपीठ ने लॉकडाउन के दौरान निजी स्कूलों के फीस लिए जाने से सम्बंधित याचिका पर सुनवाई किए, कोर्ट के द्वारा कहा गया है प्राइवेट स्कूलों को परेशानी हैं तो वह DM व आपदा प्रबंधन के प्रधान सचिव के सामने अपना पक्ष रखे।

उनके द्वारा विचार करके 4 सप्ताह के भीतर उचित निर्णय लिया जाएगा, बता दें कि पटना डीएम ने कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन की वजह से बंद किये गए प्राइवेट स्कूलों पर 10 अप्रैल को यह आदेश जारी किया गया था।

जिसमे विद्यालय के प्रबंधक को यह निर्देश दिया गया था कि वें 3 महीने के बजाय 1 महीने का ही फीस ले और इनसे किसी भी अन्य तरह के कोई भी चार्ज न लें।

बच्चो को ऑनलाइन माध्यम से पढाने के लिए ईमेल, व्हाट्सएप्प जैसी सुविधाएं दें। तथा यह भी निर्देश दिया गया था कि वे स्कूल के कर्मचारियों व अन्य स्टाफ के वेतन में कटौती न करें, इसपर संत पॉल इंटरनेशनल स्कूल द्वारा कोर्ट में याचिका को दायर कर जिला प्रशासन के दिये आदेश को रद्द करने की मांग की थी, लेकिन फिलहाल कोर्ट के तरफ से इसपर कोई राहत नही दिया गया हैं।

नियर न्यूज अब टेलीग्राम और फेसबुक पर भी उपलब्ध हैं, इसी तरह की जरूरी जानकारियों के लिए अभी हमारे साथ जुड़े :

फेसबुक पेजके लिए : यहां क्लिक करें

फेसबुक ग्रुप के लिए : यहां क्लिक करें