Tuesday, April 13, 2021

Ration Card: बिहार में बनाया जाएगा करीब 12 लाख नया राशन कार्ड, यहां देखे जिलेवार लिस्ट और इसके फायदे

Ration Card : खाद्य विभाग प्रदेश की वर्तमान Ration Card संख्या 1.75 लाख से परे 11.50 लाख नये Ration Card बनाने जा रहा है.

जिलावार पात्र Ration Card धारकों को निशानदेही कर लिया गया है. केंद्र को प्रस्ताव भेज कर इतने Ration Card धारकों के लिए अतिरिक्त आवंटन की भी मांग की जा रही है.

बता दें कि, Sarkar ने इस प्रस्ताव को सैद्धांतिक रूप से सहमति दे दी है. दरअसल खाद्य विभाग मुख्यमंत्री की मंशा के अनुसार सभी पात्र व्यक्तियों को सरकार Ration मुहैया कराने के दायरे में लाने जा रहा है.

पंचायत एवं वार्डवार संख्या जुटाई गयी

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार खाद्य विभाग ने सर्वे करा कर कर पंचायत एवं वार्डवार अनुसार संख्या जुटाई है. फिलहाल 11.50 लाख से अधिक Ration Card धारकों के लिए अतिरिक्त आवंटन और मांगा जा रहा है.

जानकारी के अनुसार Sarkar से हरी झंडी मिलते ही पहचाने गये सभी पात्र लोगों के लिए Ration Card की छपाई शुरू कर दिया जाएगा.

संभावित 30 हजार या इससे अधिक अतिरिक्त Ration Card वाले जिले

मुजफ्फरपुर – 69551

पटना – 69180

दरभंगा – 65165

मधुबनी – 62485

सीतामढ़ी – 46816

बेगूसराय – 45209

समस्तीपुर – 44031

पूर्वी चंपारण – 43313

वैशाली – 40142

भोजपुर – 39757

पूर्णिया – 36442

सीवान – 34995

पश्चिमी चंपारण – 34577

भागलपुर – 34341

नवादा – 32451

नवादा – 32451

गया – 31168

कटिहार – 31150

सारण – 30678

रोहतास – 30509

क्या है उद्देश्य

उल्लेखनीय है कि वर्तमान पात्र Ration Card धारकों के लिए 4.60 लाख टन प्रत्येक महीने बिहार को अनाज मिलता है.

हालांकि, इसमें से Ration का उठाव केवल 4.25 लाख टन ही हो रहा है. शेष आवंटन को लेने के लिए कोई सामने नहीं आया है.

बचे हुए आवंटन को खाद्य विभाग चाहता है कि पात्र लोगों का Ration Card बनवाकर Ration मुहैया कराया जाये,

जिससे कि राज्य के हिस्से का बच रहा खाद्यान्न कक राज्य के ही उपयोग लाया जा सके.

12925a9378c0ce72ce930f3778bec96c?s=96&d=blank&r=g
Near Newshttp://nearnews.in
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.

Related Articles

Stay Connected

33,257FansLike
500FollowersFollow
1,000SubscribersSubscribe

Latest Articles

- Advertisement -
error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.