Tuesday, March 9, 2021

3 साल पहले हुई किडनैप, जब मिली तो गोद में थे दो बच्‍चे, पढ़ें बिहार की लड़की के साथ हुई शोषण की इंतहा

PATNA : ब‍िहार से तीन साल पहले किडनैप कर लिया और फिर जगह-जगह बेचा और जब 3 साल बाद मिली हैं तो बन गई थी दो बच्चों की बिन ब्याही मां.

3 साल बाद बिहार से अपहरण हुई नाबालिग राजस्‍थान के दौसा से म‍िली हैं. Bihar Police ने कोई सहयोग नहीं क‍िया, लेकि‍न दौसा Police के सहयोग की सराहना हो रहा है.

खुद की राज्य के Police ने सहयोग नहीं किया और नाबालिग के ही चरित्र पर सवाल उठाकर परिजनों को टरकाती रही. 3 साल बाद वह मिली हैं,

लेकिन नाबालिग लड़की के गोद में दो मासूम बच्चे थे. बिना शादी के ही उसके दो बच्चे हो गए, जब वह अपने भाई से मिली तो दोनों रो पड़े.

जून 2018 में बिहार के जहानाबाद से एक नाबालिग का अपहरण हुआ था, जिसके बाद नाबालिग के परिजनों ने पुलिस थाने में अपहरण का केस दर्ज करवाया और आरोपियों को भी नामजद किया.

इन आरोपियों में से एक हिमाचल प्रदेश का था बाकी सब बिहार के रहने वाला था. आरोपियों का यह गैंग महिलाओं का अपहरण कर उन्हें बेच देती थी

और इसके गैंग में एक महिला भी शामिल थी. इसी महिला ने नाबालिग लड़की को फंसाया और उसे अपहरण कराकर उत्तर प्रदेश के नोएडा और राजस्थान के दौसा भिजवा दिया.

इधर नाबालिग के परिजन चिंतित होते रहे और स्थानीय SSP से लेकर बिहार के DGP तक शिकायत लेकर चक्कर काटता रहा और एक ही मांग करते रहे कि उनकी बेटी और बहन को वापस ला दीजिये.

Bihar Police पीड़िता के परिजनों को बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही थी और परिजनों को यह कहकर टरका दिया जाता था कि आपकी बच्ची प्रेम प्रसंग के चलते भाग गई हैं.

इसके बाद नाबालिग लड़की का भाई दिन-रात पुलिस और प्रशासन का चक्कर काटता रहा और अपने स्तर पर ही Call Detail और Mobile की Location Trace करता रहा.

जब नाबालिग के भाई को यह पता चला कि उसकी बहन अभी राजस्थान के दौसा में है तो वह फिर से थाने में गया और Police को साथ लेकर दौसा आया.

इसके बाद Bihar Police दौसा की सदर थाना Police के सहयोग से सदर थाना क्षेत्र के गांगल्यावास गांव में पहुंची और महिला को दस्तयाब कर ल‍िया.

महिला का हालत देखकर उसका भाई का भी रो-रो कर बुरा हाल हो गया. दस्तयाब हुई महिला ने Print Media के सामने तो कुछ नहीं कहा लेकिन अपने भाई को पूरा आपबीती सुनाया.

महिला के साथ खरीददारों ने शादी नहीं किया और उसके दो बच्चे भी हो गए. उस महिला को कई जगहों बेचा गया. दौसा में भी उसे 5 लाख रुपये में खरीदकर लाया गया था.

महिला के भाई का कहना है कि Bihar Police ने कोई सहयोग नहीं किया था और जिन आरोपियों ने अपहरण करके महिला को भेजा था. उन पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं किया गया.

उन आरोपियों में कई Bihar के जहानाबाद के डॉन हैं. पीड़ित युवती के भाई का कहना था कि दौसा Police ने उनका बहुत सहयोग किया है.

इधर, अब Bihar Police महिला को लेकर Bihar के लिए रवाना हो गई है साथ ही इस पूरे मामले का जांच किया जा रहा है कि महिला का अपहरण करने में कौन-कौन से लोग शामिल थे

और इस महिला को कहां कहां पर बेचा गया था और इनके खरीददार कौन-कौन हैं. जहानाबाद थाना SI रंजन कुमार ने बताया क‍ि देश 21वीं सदी की रेस में दौड़ रहा है

लेकिन आज भी महिलाओं को बेचा खरीदा जाता है. यह घटना सभ्य समाज के लिए एक धब्बा है वही ऐसा करने वाले अपराधियों में Police का खौफ नही है या यूं कहें कि Police के ढीले रवैये के कारण ऐसे अपराधी सक्रिय रहते है.

12925a9378c0ce72ce930f3778bec96c?s=96&d=blank&r=g
Near Newshttp://nearnews.in
Near News is a Digital Media Website which brings the latest updates from across Bihar University, Muzaffarpur, Bihar and India as a whole.

Related Articles

Stay Connected

33,257FansLike
500FollowersFollow
1,000SubscribersSubscribe

Latest Articles

- Advertisement -
error: Copyright © 2020 All Rights Reserved.