Saturday, September 25, 2021

Bihar Corona Guidelines: बिहार सरकार ने सावन और बकरीद मेला पर लगाई रोक, जाने वजह और गाइडलाइन

PATNA : कोरोना के तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच बिहार सरकार ने एक बार फिर सख्ती दिखानी शुरू कर दी हैं. CM Nitish Kumar ने “सावन और बकरीद” जैसे मौकों पर लोगों की भीड़ इकट्ठा न हो इसको लेकर सख्त नियम बनाए हैं.

इन नियमों के तहत Bakrid 2021 (बकरीद) के मौके पर जहां लोग सामूहिक रूप से नमाज नहीं पढ़ सकेंगे तो वहीं Shrawan 2021 (सावन) के महीने में शिवालयों में भी होने वाली पूजा पर रोक लगाए जाने का फैसला लिए है.

दरअसल, राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले कम जरूर हुए हैं, परंतु सरकार की यह पूरी कोशिश हैं कि कोरोना के तीसरी लहर के दौरान इसे सामूहिक रूप से फैलने से रोका जा सके.

बता दें कि, Covid-19 Guidelines का पालन करते हुए बकरीद की नमाज सिर्फ घरों में ही पढ़ी जा सकती हैं. किसी भी ईदगाह या फिर मस्जिद में नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं हैं. बकरीद के मौके पर किसी भी सार्वजानिक समारोह पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगा.

सभी लेटेस्ट सरकारी नौकरी बिहार नोटिफिकेशन से अपडेटेड रहने के लिए इन ग्रुपों को अभी जॉइन करें.

Telegram GroupJoin Now
Facebook GroupAvailable Soon
Whatsapp GroupJoin Now

वहीं, सावन में लगने वाले श्रावणी मेला पर भी पाबंदी लगा दिया गया है. Covid-19 Guidelines के तहत किसी भी सार्वजनिक मेला या समारोह पर पाबंदी लगा रहेगा.

साथ ही मंदिरों में कांवर ले जाने पर भी रोक लगा दिया गया है. मंदिरों में पहली सोमवारी से ही सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम करने का निर्देश दिया गया हैं.

बिहार राज्य धार्मिक न्यास बोर्ड के अध्यक्ष अखिलेश कुमार जैन ने यह जानकारी दी है कि Bihar Sarkar ने एक सीडी जारी की हैं, जिसमें अगस्त महीने तक किसी भी धार्मिक कार्यक्रम और उसके आयोजन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दी है.

लोगों की सुरक्षा और कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंकाओं को देखते हुए इस बार श्रावणी मेला का आयोजन नहीं किया जाएगा और सावन महोत्सव से जुड़े किसी भी कार्यक्रम पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा.

अखिलेश कुमार जैन ने लोगों से यह अपील की हैं कि लोग अपने घरों में ही पूजा-अर्चना करें. मंदिर आम जनों के लिए पूरी तरह से बंद रहेंगे. मंदिर के पुजारी सिर्फ सुबह और शाम को पूजा अर्चना और आरती करेंगे.

सावन महीने में जो भी उत्सव और मेले का आयोजन किया जाता हैं, उसे भी प्रतिबंधित कर दिया गया हैं. लोगों को सुल्तानगंज और भागलपुर से जल नहीं लेने दिया जाएगा.

उन्होंने लोगों से यह अपील की हैं कि लोग जिस तरह से हर बार सरकार का समर्थन करते हैं, इस बार भी इस फैसले का लोग समर्थन करेंगे और सभी के सुरक्षा का ख्याल रखेंगे.

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Business

NAUKRI

ASTROLOGY

error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.