Friday, June 25, 2021

किस्सा मुजफ्फरपुर के नटवरलाल का, मोबाइल खरीद बिक्री में कर दिया इस तरह का खेल

CRIME : अगर आप सेकेंड हैंड मोबाइल (Second hand mobile) खरीदते हैं तो सावधान हो जाइये. आपके साथ भी हो सकता हैं ऐसा धोखा.

मिले ख़बरों के मुताबिक मुजफ्फरपुर जिले के सदर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले एक युवक ने पहले अपना मोबाइल बेच दिया.

मोबाइल बेचने के बाद उसने मोबाइल छिनतई की झूठी रिपोर्ट थाना में दर्ज करवा दिया. लोकेशन को ट्रैस कर जब मोबाइल चला रहे युवक को पुलिस ने पकड़ा तब जाकर यह मामला सामने आया.

घटना से सेकेंड हैंड खरीदार चिंतित (Second Hand Mobile Muzaffarpur)

लोकेशन ट्रेस कर पकड़ाए युवक ने मोबाइल खरीदने व उससे संबंधित कागजात पुलिस को सौंपा. इसके बाद रिपोर्ट दर्ज कराने वाले युवक को जब थाना लाकर पूछताछ किया गया तब जाकर उसने अपने अपराध को स्वीकार कर लिया.

यूं तो इस मामले में पुलिस ने राहत की सांस ले ली है लेकिन, सेकेंड हैंड मोबाइल (Second Hand Mobile) खरीदने (Buy) या इसका कारोबार करने वालों के लिए चिंता बढ़ गई है.

क्योंकि इसकी वजह से उनकी भी परेशानी बढ़ सकती हैं. कुछ लोग तो यह यह भी सोचने लगे हैं कि उनके पास जो सेकेंड हैंड मोबाइल (Second Hand Mobile Muzaffarpur) है कहीं उसके साथ भी कोई गड़बड़ी तो नहीं किया गया है.

यह भी पढ़े :  इस राशि के महिलाओं को माना जाता हैं बेहतरीन लीडर, होती हैं ये विशेषताएं

यह है मामला :

मुज़फ्फरपुर के सदर थाना के गोबरसही मोहल्लें का दीपू कुमार ने 29 अक्टूबर को मोबाइल गुम हो जाने की प्राथमिकी दर्ज कराई थी.

उसने कहा था कि वह पकड़ी हाट से सब्जी खरीद रहा था. गंगा यादव चौक के पास में बाइक सवार बदमाशों ने उससे उसकी मोबाइल झपट ली.

इस मामले का आईओ राजेश कुमार को बनाया गया. जब जांच आगे बढ़ी तो मामला कुछ और ही सामने आया.

दर्ज कराया जाएगा मामला :

मामला झूठा साबित होने के बाद वरीय अधिकारी के निर्देश पर उसके विरुद्ध मामला दर्ज करने की प्रक्रिया चल रहा है. सिटी एसपी राजेश कुमार ने बताया कि यह मामला संज्ञान में आया है.

झूठी प्राथमिकी दर्ज करवाने वाले के खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई किया जा रहा है.

जो भी व्यक्ति जब कभी दूसरे से Mobile या फिर कोई और ही चीज खरीद रहे हों तो पूरी तरह से सावधान रहें. सभी जरूरी कागजात मांग लें.

यह भी पढ़े :  मुज़फ्फरपुर : लगातार 9वें दिन भी जारी रहा एलआईसी अभिकर्ताओं का विरोध प्रदर्शन

इस लेनेदेन से जुड़ा एक सहमति पत्र आधार कार्ड के जिरोक्स कॉपी पर IMI नंबर सहित बिक्री का उल्लेख करते हुए सिग्नेचर करवा हासिल कर लें. किसी भी तरह के विवाद की स्थिति में आप खुद को इससे बचा सकते हैं.

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Latest Article

RECIPE

NAUKRI NOTIFICATION

ASTROLOGY

- Advertisement -
error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.