Wednesday, June 23, 2021

सावधान : बिहार में मौसम विभाग ने किया ऑरेंज अलर्ट जारी, इन जिलों में आंधी-वज्रपात के साथ होगी मूसलाधार बारिश

PATNA: बंगाल की खाड़ी में सक्रिय “यास” तूफान का असर पूरे बिहार राज्य पर होगा. आपदा प्रबंधन विभाग ने इस तूफान को लेकर राज्य के सभी जिलों में अलर्ट जारी कर दिया है.

सभी जिलों के पदाधिकारियों को उत्पन्न स्थितियों से निपटने के लिए सारी तैयारियों को कर लेने के निर्देश जारी कर दिया गया हैं.

साथ ही साथ सभी जिलों में तैनात आपदा मोचन बल को अलर्ट मोड में रहने का भी निर्देश दिया है.

बिहार में इस तूफान का असर 27 मई से 30 मई के बीच देखने को मिल सकता है. इस दौरान भारी वर्षा के साथ तेज हवाएं और वज्रपात की संभावना हैं.

16 जिलों में आंधी तूफान के साथ तेज हवाएं

मौसम विभाग के अनुसार बिहार के 22 जिलों में मध्यम बारिश और वहीं 16 जिलों में आंधी तूफान के साथ काफी तेज हवाएं चलेगी, जिससे की वज्रपात की भी संभावना है.

मौसम विभाग के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में सक्रिय तूफान उड़ीसा से लगभग 450 किलोमीटर दूर हैं. 26 मई की शाम को “यास” तूफान को उड़ीसा और पश्चिम बंगाल तक पहुंचने की संभावना हैं.

इसके बाद झारखंड होते हुए बिहार में यह तूफान प्रवेश करेगा. “यास “तूफान के असर से बिहार के सभी जिलों में बारिश होगी.

यह भी पढ़े :  डीएलएड सत्र 2020-22 के लिए आज से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू, ये रहा डाइरेक्ट लिंक

साथ ही साथ तापमान में 5 से 7 डिग्री सेल्सियस की गिरावट भी दर्ज किया जाएगा. फिलहाल 25 मई तक बिहार के सभी दक्षिणी हिस्सों में मौसम शुष्क रहेगा, वहीं पूर्वी हिस्से में तेज हवाओं के साथ बारिश होती रहेगी.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने “राज्य आपदा प्रबंधन विभाग” को तूफान की आशंका की जानकारी दी है.

इसके लिए आपदा प्रबंधन को भेजा गया. इस पत्र में मौसम विभाग ने कहा हैं कि इस तूफान के कारण 27 से 30 मई तक बिहार के कुछ जिलों में भारी वर्षा हो सकता है.

How to Make Cheez Sandwich : वीडियो देखें

Subscribe Now : Click Here

साथ ही, ठनका गिरने की काफी आशंका है. इसका असर 27 और 28 मई को सबसे अधिक देखने को मिल सकता है. कहीं-कहीं पर इस तूफान का असर 28 घंटे तक रह सकता हैं.

यह भी पढ़े :  डीएलएड सत्र 2020-22 के लिए आज से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू, ये रहा डाइरेक्ट लिंक

“यास” तूफान के आशंका के मद्देनजर बिजली कम्पनियां भी इससे निपटने की रणनीति बनाई हैं. उसने सभी इंजीनियरों को अलर्ट मोड में रहने को कहा है.

तार-पोल सहित अन्य सभी आवश्यक सामग्रियों कक नजदीकी केंद्रों में भंडारण करने को कहा गया हैं, ताकि कम से कम समय में बिजली की आपूर्ति को बहाल किया जा सकें.

अपना विज्ञापन लगवाने के लिए – यहां क्लिक करें

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Latest Article

RECIPE

NAUKRI NOTIFICATION

ASTROLOGY

- Advertisement -
error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.