Friday, June 25, 2021

Bihar Board Exam Pattern 2021: मैथेमेटिक्स और रसायन शास्त्र के परीक्षाओं का यह हैं परीक्षा पैटर्न, यहां से पूछे जाएंगे प्रश्न, इन बातों का रखें खाश ख्याल

Bihar Board Exam Pattern 2021 : वार्षिक परीक्षा 2021 में गणित में परीक्षार्थियों को लगभग दोगुना विकल्प मिलेगा.

गणितज्ञ प्रो. केसी सिन्हा के मुताबिक, Bihar Board ने वस्तुनिष्ठ, लघु उत्तरीय प्रश्न और दीर्घ उत्तरीय प्रश्न में विकल्पों की संख्या को बढ़ा दी है. हालांकि, Bihar Board ने अभी इसकी औपचारिक घोषणा नहीं किया है.

बता दें कि हिन्दुस्तान कार्यालय में आयोजित Intermediate Examination की टेली काउंसिलिंग में प्रो. केसी सिन्हा ने परीक्षार्थियों को टिप्स देते हुए यह जानकारी दी हैं.

Patna Science College से सेवानिवृत प्रो. केसी सिन्हा ने छात्रों को बताया कि Objective Questions की संख्या इस बार करीब सौ रहेगा.

12th 10 Year Question Bank VVI Question : Available Soon

Short Answer Questions 30 और दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों की संख्या आठ प्रश्न रह सकता हैं. ज्ञात हो कि 12th Intermediate Exam 2021 की परीक्षा 02 से 14 फरवरी तक आयोजित किया जाएगा.

छात्रों द्वारा सिलेबस कम करने के सवाल पर प्रो. केसी सिन्हा ने बताया कि Bihar Board ने किसी चैप्टर में कटौती नहीं किया है लेकिन प्रश्नों का विकल्प बढ़ा दिया गया हैं.

इससे किसी भी परीक्षार्थियों (12th Examinees) को घबराने की जरूरत नहीं है, इससे उन्हें सहूलियत ही होगा. प्रो. सिन्हा ने बताया कि Bihar Board ने 12th Exam Syllabus को कम नहीं किया है बल्कि Questions की संख्या इस बार बढ़ा दिया है.

दो महीने का समय है अभ्यास पर दें अधिक जोर

प्रो. सिन्हा ने छात्रों को यह सलाह दिए हैं कि जितना अभी तक पढ़े है, उसका अभ्यास ज्यादा से ज्यादा करें.

अब Bihar Board 12th Exam के दो महीने ही बचे हैं. ऐसे में नया पढ़ने से ज्यादा अच्छा है जो पढ़े है, उसी का अभ्यास करें.

बता दें कि इसबार 12th Board Exam में Objective Question हर चैप्टर से आएगा. लेकिन Question की संख्या अधिक होने से आपने जिस चैप्टर को पढ़ा होगा,

उससे ही उत्तर लिख पाएंगे. कैलकुलश (Calculus) चैप्टर से 40 फीसदी Question पूछे जा सकते हैं.

हर चैप्टर के फॉर्मूले पर दें विशेष जोर

गणितज्ञ प्रो. केसी सिन्हा ने बताया कि सभी छात्रों को प्रत्येक चैप्टर के फॉर्मूला पर विशेष जोर देने का सलाह दिया गया. उन्होंने कहा कि Objective Question में फॉर्मूला से ही ज्यादातर Question रह सकता हैं.

इसीलिए प्रत्येक चेप्टर के फॉर्मूला को अच्छे से तैयार करें. इसका फायदा यह होगा कि छात्रों ने जो भी चैप्टर पढ़ा होगा, उससे उनके Question आ जाएगा.

यह भी पढ़े :  इंटर में नामांकन के लिए OFSS पोर्टल में फिर आई ये गड़बड़ी, दिनभर ऑनलाइन आवेदन करने के लिए भटकते रहे अभ्यर्थी, पढ़ें पूरी डिटेल

प्रो. सिन्हा ने बताया कि Bihar Board ने Syllabus को कम नहीं किया है बल्कि 12th Question की संख्या इस बार बढ़ा दिया है.

ज्यादातर प्रश्न फॉर्मूला बेस्ट से ही रह सकते हैं

प्रो. सिन्हा ने छात्रों को प्रत्येक चैप्टर के फॉर्मूला पर विशेष जोर देने की सलाह दिए हैं. कहा कि Objective Question में फॉर्मूला से ही ज्यादातर प्रश्न रह सकते हैं.

इसलिए आप तमाम छात्रों को यह हिदायत दी जाती है कि फॉर्मूला को अच्छे से तैयार करें. इसका फायदा यह होगा कि छात्रों ने जो भी चैप्टर पढ़ा होगा, उससे उनके प्रश्न आ जाएगा.

महत्वपूर्ण चैप्टर

प्रोबैब्लिटी डिस्ट्रब्यूशन(Probability distribution)
लीनियर प्रोग्रामिंग (इसमें लैंग्वेज और एरिया वाले से प्रश्न नहीं रहेंगे)
वेक्टर एंड थ्रीडी (इससे ऑब्जेक्टिब और सब्जेक्टिब प्रश्न रहेंगे)
मैट्रिक्स डटमनांट
प्रोपर्टीज ऑफ डिफनिट इंट्रीग्रेनर
इन्वर्स सर्कुलर फंक्शन

यह भी पढ़े :  इंतजार खत्म! पीजी सत्र 2020-22 में एडमिशन के लिए फर्स्ट मेरिट लिस्ट आज, यहां से कर पाएंगे डाउनलोड

इंडिफिनिट इंट्रीग्रेशन
डिफ्रेंशियल

इन बातों का रखें खाश ख्याल

Objective Questions के लिए केवल फॉर्मूले को याद करें. ये सारे के सारे वैकल्पिक यानी मल्टीपल च्वाइस (multiple choice) वाले प्रश्न रहेंगे.

लघु उत्तरीय प्रश्न (Short answer questions) में चैप्टर के अंदर से भी प्रश्न रह सकता हैं. अच्छे नंबर के लिए इसका उत्तर दो या तीन स्टेप में ही देना चाहिए.

दीर्घ उत्तरीय के प्रत्येक Question में फॉर्मूला जरूर बनाएं. इससे अच्छा अंक आता हैं. इसका उत्तर भी स्टेपवाइज में देना चाहिए.

10 Year Question Bank : Available Soon

रसायन शास्त्र (Chemistry) के सिलेबस में कटौती नहीं, बढ़े हैं प्रश्नों का विकल्प

AN College के रसायन शास्त्र (Chemistry) के शिक्षक प्रो. अनिल कुमार सिंह के मुताबिक, Bihar Board ने रसायन शास्त्र में वस्तुनिष्ठ, लघु उत्तरीय और दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों में विकल्पों की संख्या बढ़ा दिया है

प्रो. अनिल ने कहा कि इसबार न्यूएमेरिकल से कम प्रश्न रह सकते हैं. ज्यादातर प्रश्न बिना न्यूमेरिकल के ही रहेंगे. इससे छात्रों को उत्तर देने में आसानी होगी.

उन्होंने बताया कि डायग्राम नहीं बनाना है. बस प्रत्येक चैप्टर से बेसिक तैयारी जरूर कर लें. इसके अलावें उन्होंने पांच सालों के प्रश्नों से अभ्यास करने की भी सलाह दिए हैं. इनपुट : हिंदुस्तान

Bihar Board + Naukri + Scholarship + अन्य महत्वपूर्ण खबरों से अपडेटेड रहने के लिए ग्रुप को JOIN कर हमें अभी फॉलो करें

Facebook GroupJoin Now
Telegram Join Now
Sarkari NaukriJoin Now
InstagramFollow
Facebook PageFollow
Whatsapp GroupJoin Now

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
2,522FollowersFollow
1,121SubscribersSubscribe

Latest Article

RECIPE

NAUKRI NOTIFICATION

ASTROLOGY

- Advertisement -
error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.