Tuesday, June 15, 2021

Muzaffarpur में 11 विधायक, तीन विधान पार्षद और दो सांसद, विपदा के समय नजर नहीं आ रहें

MUZAFFARPUR : आमलोगों पर कोरोना के इस महामारी का मार पर रहा हैं. हर घर, हर परिवार से मदद के लिए गुहार लगाया जा रहा है. इंटरनेट मीडिया से लेकर हर पहुंच वाले मोबाइल नंबरों पर लोग फोन लगा रहे हैं,

मगर, इस बड़ी विपदा की घड़ी में माननीय नजर ही नहीं आ रहे हैं. छोटा से छोटा कार्यक्रम की तस्वीरें साझा करने वाले माननीय गलती से भी अपना चेहरा नहीं दिखा रहे हैं.

दवा से लेकर ऑक्सीजन तक के लिए मरीज के परिजन अपने स्तर से ही प्रयास कर रहे हैं. अन्य जिलों में माननीय के तरफ से बड़ी राशि ऑक्सीजन प्लांट से लेकर कई अन्य मदद में दी गई.

यहां 11 विधायक, तीन विधान पार्षदों और दो सांसदों के रहते हुए भी मदद के नामपर कुछ भी नहीं हो रहा. हा मगर प्रशासनिक पदाधिकारी के स्तर से ही कुछ कोशिश जरूर हुई हैं,

मगर इस आपदा में भी कालाबाजारी और मुनाफाखोरी करने वालों का बोलबाला हैं. अस्पताल से लेकर श्मशान तक लूट मचा हैं. एकदिन यह विपदा टल ही जाएगी, माननीय के इस बेवफ़ाई को जनता कभी न भूलेगी, जनता इस दर्द को याद रखेगी.

Muzaffarpur से संबंधित सभी खबरों से अपडेटेड रहने के लिए यहां क्लिक कर अभी जॉइन हो जाएं
Telegram : Join
Facebook : Like

ऐसे में तो भगवान ही बचाए

पिछले वर्ष कोरोना महामारी की पहली लहर ने कम नुकसान पहुंचाया था, तब लोगों में महामारी को लेकर डर था.

जिले में अगर एक दिन में कोरोना से 10 संक्रमित भी मिल जाते, तो भय जैसा माहौल बन जाता था.

अभी मुज़फ्फरपुर में चार से पांच सौ लोग रोजाना संक्रमित हो रहे हैं. इसके बाद भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं.

शहरी क्षेत्र में स्थिति थोड़ा बहुत ठीक भी हैं यहां लोग कम से कम मास्क पहन के निकलने लगे हैं.

लेकिन ग्रामीण क्षेत्र में लोग बेपरवाह सा दिख रहें. उनमें यह भ्रांति घर कर गया हैं कि एसी वालों को ही यह कोरोना वोरोन बीमारी होता है. जैसी जागरूकता की जरूरत थी वैसी अपेक्षाकृत जागरूकता नहीं आई.

प्रशासनिक और पुलिस पदाधिकारी भी इस मामले पर लापरवाह सा दिखे है. वरीय पदाधिकारीगन से दबाव बढ़ता हैं तो कोटा पूरा कर देते हैं.

इसके बाद फिर वहीं लापरवाही. कोरोना संक्रमित वाले टोले-मुहल्ले को भी कंटेनमेंट जोन बनाने में बस खानापूर्ति हो रहा है. ऐसे में भगवान ही बचाये

अन्य महत्वपूर्ण खबरों से अपडेटेड रहने के लिए यहां क्लिक कर हमें अभी फॉलो करें

TelegramJoin Now
FacebookFollow
Sarkari NaukriJoin Now
InstagramFollow
Facebook GroupJoin Now

Related Articles

Stay Connected

34,988FansLike
500FollowersFollow
1,000SubscribersSubscribe

Latest Articles

- Advertisement -
error: Copyright © 2021 All Rights Reserved.